worn tires
worn tires

रायपुर-स्कूल-कॉलेज बसों के लिए आयोजित पुलिस के मैकेनिकल जांच शिविर में इस बार भी हर बार की तरह बहुत कम बस जांच के लिए आईं।शैक्षणिक संस्थानों में संचालित करीब 500 बसों में से केवल 25 फीसद ही पहुंचीं।पुलिस लाइन मैदान में रविवार को स्कूल-कॉलेज की बसों की जांच के लिए शिविर आयोजित किया गया, जिसमें 24 शैक्षणिक संस्थाओं की 175 बस पहुंचीं।इनमें से 12 में कई खामियां पाई गईं।उन खामियों को दुरुस्त कर आरटीओ दफ्तर से फिटनेस प्रमाण पत्र प्राप्त करने कहा गया है।जिन बसों को फिट पाया गया,उन्हें स्टीकर दिया गया ताकि सड़क पर कार्रवाई करते समय उनकी पहचान हो सके।

worm tires
worm tires

शिविर में नहीं पहुंचने वाली बसों को जांच के लिए 7 जुलाई को दोबारा मौका दिया गया है।संस्थाओं को अनिवार्य रूप से शिविर में बस भेजने कहा गया है।इसके बाद भी जो बसें नहीं आएंगी,उनकी सड़क पर ध्ारपकड़ की जाएगी।ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित मैकेनिकल जांच शिविर में हरिशंकर

स्कूल,वाईकानस्कूल,राजकुमारकॉलेज,डीपीएस,केपीएस,आरके शारडा भुवंस,एमएम स्कूल,भिलाई इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी,पोद्दार स्कूल,होली क्रॉस स्कूल कांपा समेत 24 शैक्षणिक संस्थानों की बसें पहुंचीं।

12 चालकों पर कार्रवाई बसों की जांच कुशल मैकेनिकों ने किया और दस्तावेजों की जांच आरटीओ ने उच्च न्यायालय के निर्देशों को ध्यान में रखकर किया।जांच में 12 चालकों में अनुभव की कमी,प्रेशर हॉर्न,इंडिकेटर खराब होने,स्पीड गर्वनर नहीं होने समेत अन्य खामियां पाई गईं आरटीओ ने इन बसों पर चालानी कार्रवाई कर 8500 रुपये जुर्माना वसूला।

इसकी हुई जांच

रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसीबुक),टैक्स पे की रसीद,वाहन का परमिट,वाहन का फिटनेस प्रमाण पत्र,वाहन के बीमा दस्तावेज,प्रदूषण जांच प्रमाण पत्र,चालक का अनुज्ञापत्र,स्पीड गवर्नर सर्टिफिकेट,मैकेनिकल फिटनेस की जांच,हेड लाइट,ब्रेक लाइट,वायपर,ब्रेक,हैंड ब्रेक,पार्किंग लाइट,क्लच,इंडिकेटर लाइट,एक्सीलेटर,ब्राब्क लाइट, सीट,टायर,हॉर्न व स्टेयरिंग की स्थिति,रिफ्लेक्टर आदि की जांच की गई।

चालक,परिचालक को बीपी,नेत्रदोष

शिविर में बस चालकों व परिचालकों का नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण अनुभवी चिकित्सकों द्वारा किया गया। रक्तचाप,मधुमेह,शारीरिक तापमान,हृदय की धड़कन,आंख,कलर ब्लांइड,मोतियाबिंद आदि की जांच कर बीपी, शुगर से पीड़ित चालकों को लगातार दवा खाने की सलाह दी गई।जांच में प्रज्ञा कर्ण बधिर स्कूल के चालक संतसिंह चौहान,वाईकॉन स्कूल के चालक घनश्याम,केपीएस के चालक कन्हैया जगत में नेत्रदोष तथा भुवंस स्कूल के चालक अनिल चौहान में बीपी की समस्या पाई गई।इन्हें नियमित इलाज कराने की सलाह दी गई। एएसपी ट्रैफिक एमआर मंडावी,डीएसपी सतीश ठाकुर और यातायात प्रशिक्षक टीके भोई ने बस चालकों को यातायात नियमों का पालन करने,सुरक्षित तरीके से वाहन चलाने की हिदायत दी।आरटीओ निरीक्षक ध्रुव ने वाहन फिटनेस व परमिट रखकर चलने को कहा।

Summary
0 %
User Rating 0 Be the first one !
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Transfer :तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के स्थानांतरण आदेश जारी

जिले में 12 विभागों के कर्मचारियों का हुआ तबादला कांकेर-उत्तर बस्तर कांकेर 16 जुलाई 2019- …