बस्तर दशहरा वर्ष 2020 का कार्यक्रम विवरण जारी

जगदलपुर- विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा की शुरुआत हरियाली अमावस्या के दिन सोमवार 20 जुलाई को पाठजात्रा पूजा विधान कार्यक्रम से होगी। बस्तर दशहरा समिति के द्वारा बस्तर संभाग के गणमान्य नागरिकों, मांझी-चालकी, मेम्बर-मेम्बरिन, पुजारी-राउत एवं जनसमुदाय से 20 जुलाई को सुबह 11 बजे दंतेश्वरी मंदिर के सामने जगदलपुर में आयोजित इस कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की गई।

बस्तर दशहरा समिति द्वारा जगदलपुर शहर में आयोजित होने वाले विश्व प्रसिद्ध दशहरा पर्व 2020 का कार्यक्रम विवरण जारी कर दिया गया है। इसके अन्तर्गत कार्यक्रम का शुभारंभ सोमवार 20 जुलाई को हरियाली आमावस्या के दिन पाठजात्रा कार्यक्रम से होगी। इसके साथ ही सोमवार 31 अगस्त को सुबह 11 बजे डेरी गड़ाई पूजा विधान, शुक्रवार 16 अक्टूबर को शाम 5 बजे काछानगादी पूजा विधान, शनिवार 17 अक्टूबर को सुबह 11 से शाम 5 बजे तक कलश स्थापना पूजा विधान, जोगी बिठाई पूजा विधान, 18 अक्टूबर से 23 अक्टूबर तक शाम 5 बजे से प्रतिदिन नवरात्रि पूजा विधान, रथ परिक्रमा पूजा विधान, शनिवार 24 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से रात्रि 10.30 बजे तक महाअष्टमी पूजा विधान, निशा जात्रा पूजा विधान, रविवार 25 अक्टूबर को सुबह 11 बजे, शाम 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक कुंवारी पूजा विधान, जोगी उठाई पूजा विधान, मावली परघाव विधान कार्यक्रम सम्पन्न होगी।

इसी तरह सोमवार 26 अक्टूबर सुबह 11 बजे रात्रि 5 बजे तक भीतर रैनी पूजा विधान, रथ परिक्रमा पूजा विधान, मंगलवार 27 अक्टूबर को सुबह 11 बजे शाम 5 बजे तक कुम्हड़ाकोट पूजा विधान, रथ यात्रा पूजा विधान, बुधवार 28 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक काछन जात्रा पूजा विधान, सांसद, विधायक, पूजारी, माझी एवं अन्य सेवाधारियों का आम दरबार, गुरूवार 29 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से कुटुम्ब जात्रा पूजा विधान पश्चात ग्राम देवी-देवताओं बिदाई तथा शनिवार 31 अक्टूबर को सुबह 11 बजे मां दन्तेश्वरी दन्तेवाड़ा का बिदाई पूजा विधान कार्यक्रम सम्पन्न होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.