बालोद MyNews36- रक्षा बंधन त्यौहार के लिए विभिन्न प्रकार की राखियां बनाई जाती है। बाजारों में कई प्रकार की रंग-बिरंगी राखियां सजने लगी हैं।बालोद जिले के गुण्डरदेही विकासखण्ड के ग्राम पैरी में ग्रामीण आजीविका मिशन “बिहान” योजना से जुड़ी स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा “धान की बाली” से सुंदर एवं आकर्षक राखियां बनाई जा रही हैं।

कलेक्टर जनमेजय महोबे ने सुंदर राखियों को देखकर बालोद बंधन नाम रखने का सुझाव दिया है। महिलाओं द्वारा धान की बाली से कई प्रकार की राखियां बनाई जा रही है। जिसे बाजार में बेचकर लाभ प्राप्त करेंगी। स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा आकर्षक सजावटी सामान व आभूषण बनाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.