बाल झड़ने की समस्या के बारे में तो आप जानते ही होंगे,लेकिन कई लोग बाल झड़ने यानी कि हेयर फॉल और हेयर लॉस को एक ही समझने की गलती कर देते हैं।कई बार बाल झड़ना काफी हद तक सामान्य प्रक्रिया होती है।माना जाता है कि अधिकांश लोगों के हर रोज करीब 100 बाल टूटते हैं, लेकिन अगर इससे ज्यादा टूटते हो तो उसके कई अन्य कारण हो सकते हैं,जिसे बाल झड़ना व हेयर फॉल कहेंगे। वहीं हेयर लॉस इससे अलग होता है, जिसमें बाल जड़ से गिर जाते है और दोबारा नहीं ऊगते।

आइए,जानते हैं कि हेयर लॉस किन कारणों से होता है –

  • कई बार हेयर लॉस आनुवांशिक कारणों की वजह से हो सकता है।
  • गलत हेयरस्टाइल व बालों का गलत रखरखाव भी इसकी वजहों में से है। कई बार बालों को रबर बैंड से कसकर बांधंने व हाई पोनी टेल नियमित बनाने से भी हेयर लॉस की समस्या हो सकती है।
  • इसके अलावा डाई, ब्लीच, स्ट्रेटनर्स या परमानेंट वेव सॉल्यूशन के इस्तेमाल से भी बाल परमानेंट झड़ना शुरू हो सकते है।
  • महिलाओं में हेयर लॉस की समस्या बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने, प्रेग्नेंसी, डिलिवरी के बाद व मेनोपॉज आदि स्थितियों में जहां हार्मोन में बदलाव आते हैं, उस वजह से भी होता है।
  • कई बार किसी गंभीर बीमारी व सर्जरी के दौरान होने वाले तनाव से भी कुछ समय के लिए बालों के उगने की प्रक्रिया रुक सकती है। इसके अलावा थॉयराइट डिसऑर्डर, सिफलिस, आयरन की कमी या इन्फेक्शन की वजह से भी हेयर लॉस हो सकता हैं।
  • कीमोथेरेपी व कई बार कुछ दवाइयों के साइड इफेक्ट की वजह से भी हेयर लॉस शुरू हो सकता है।
  • ऊपर बताए कारणों के अलावा शरीर में पोषक तत्वों की कमी से भी बाल झड़ सकते हैं व हेयर लॉस भी हो सकता है।

इन घरेलू उपचार से बालों को रख सकते है सुरक्षित

घर में आसानी से उपलब्ध सामग्री से भी बालों को झड़ने से रोकने के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। यहां बालों को झड़ने से रोकने के लिए शीर्ष 5 घरेलू उपचार बताए जा रहे हैं।जो इस प्रकार है-

बालों की तेल मालिश –अपने बालों को खोने का नुकसान कम करने के लिए जो पहला कदम आप उठा सकते हैं वह है तेल के साथ अपने सिर की मालिश करना। बालों और सिर की उचित मालिश करने से बालों के रोम में रक्त का प्रवाह बढ़ता है और आपके बालों की जड़ों की शक्ति में वृद्धि होती है। यह आपको आराम पहुंचाने और तनाव की भावनाओं को कम करने में मदद भी करेगा।आप बालों के लिए नारियल या बादाम का तेल, जैतून का तेल, अरंडी का तेल, आंवला तेल, या अन्य तेल का उपयोग कर सकते हैं। बेहतर और तेज़ परिणाम के लिए रोज़मैरी एसेंशियल ऑइल की कुछ बूंदें जोड़ें।अपनी उंगलियों के साथ हल्का दबाव देकर बाल और खोपड़ी पर ऊपर बताये तेलों में से किसी एक से अपने बालों में मालिश करें। यह सप्ताह में कम से कम एक बार करें।

आंवला – बालों के प्राकृतिक और तेज़ी से विकास के लिए, आप आंवले का भी उपयोग कर सकते हैं। आंवला में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है, जिसकी शरीर में कमी बालों को गिरने का एक कारण हो सकती है।

मेथी – मेथी बालों के झड़ने के उपचार में बहुत प्रभावी है। मेथी के बीज में हार्मोन अंटेसीडेंट होते हैं जो बालों के विकास को बढ़ाने और बालों के रोम के पुनर्निर्माण में मदद करते हैं। इसमें प्रोटीन और निकोटिनिक एसिड भी होता है जो बालों के विकास को प्रोत्साहित करता है।

प्याज का रस – प्याज के रस में उच्च मात्रा में सल्फर कंटेंट होता है, जो बालों के रोम के लिए रक्त परिसंचरण में सुधार करता है, बालों के रोम का पुनर्निर्माण करने और सूजन को कम करने में मदद करता है जिसके कारण बालों का झड़ना कम हो जाता है। प्याज के रस में जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो बालों के झड़ने का कारण बन सकने वाले कीटाणुओं और परजीवियों को मारने में मदद करता है, और खोपड़ी संक्रमण का उपचार करता है।2002 में त्वचा विज्ञान के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में, जिन अध्ययन प्रतिभागियों की खोपड़ी पर प्याज का रस लगाया गया उनमें लगभग 74 प्रतिशत ने बालों के महत्वपूर्ण पुनर्विकास का अनुभव किया।

एलोवेरा –एलोवेरा में एंज़ाइम होते हैं जो बालों के स्वस्थ विकास को सीधे बढ़ावा देने में शामिल होते हैं। इसके अलावा, अपने एल्कलाइन गुण के कारण ये बालों के पीएच को एक सही स्तर पर लाने में मदद कर सकते हैं और बाल विकास को बढ़ावा दे सकते हैं।एलोवेरा के नियमित उपयोग से आप खोपड़ी की खुजली को दूर कर सकते है, खोपड़ी की लालिमा और सूजन को कम कर सकते हैं, बालों की शक्ति और चमक बढ़ा सकते हैं और रूसी को भी कम कर सकते हैं। एलो वेरा जेल और रस दोनों ही इस काम में प्रभावी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.