व्हाट्सएप की दादागिरी….नई सेवा शर्तें मानों या अकाउंट डिलीट कर दो….जानिए क्या है शर्ते…

व्हाट्सएप के इस्तेमाल की नई शर्तें आठ फरवरी 2021 से लागू हो रही हैं। व्हाट्सएप ने अपने यूजर्स को नई सेवा शर्तों को लेकर नोटिफिकेशन देना शुरू कर दिया है और यदि कोई यूजर नई शर्तों को स्वीकार नहीं करता है तो आठ फरवरी के बाद कंपनी उसके अकाउंट को बंद कर देगी।व्हाट्सएप ने साफ शब्दों में कहा है कि यदि आपको एप इस्तेमाल करना है तो आपको उसकी सेवा शर्तें को पूरी तरह से स्वीकार करना होगा,वरना आप चाहें तो अपना व्हाट्सएप अकाउंट डिलीट कर सकते हैं।

आपसे कौन-कौन सी जानकारियां लेता है व्हाट्सएप?

व्हाट्सएप की शर्तों को लेकर आसान भाषा में अभी तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं थी लेकिन एपल के एप स्टोर की नई प्राइवेसी के बाद व्हाट्सएप को मजबूरन आम भाषा में बताना पड़ा है कि वह यूजर्स से कौन-कौन सी जानकारियां लेता है। एपल एप स्टोर पर व्हाट्सएप की लिस्टिंग के मुताबिक व्हाट्सएप अपने यूजर्स से 16 तरह की जानकारियां लेता है जिनमें फोन के मॉडल की जानकारी समेत पेमेंट तक की जानकारियां शामिल हैं।

फेसबुक डाटा

यह तो आपको पता ही है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में फेसबुक का एकाधिकार है। व्हाट्सएप से लेकर इंस्टाग्राम और फेसबुक तक का मालिक एक ही है। यह बात भी आप अच्छी तरह से जानते हैं कि इस दुनिया में कुछ भी मुफ्त में नहीं मिलता है यानी जो चीजें आपको प्रत्यक्ष रूप से मुफ्त में मिलती हैं, उसकी कीमत आप अप्रत्यक्ष रूप से चुकाते हैं। डाटा नई दुनिया का तेल है और डाटा माइनिंग आज सबसे बड़ा बिजनेस और सबसे बड़ा हथियार है। आज जिसके पास जितना अधिक डाटा है, वह उतना ही ताकतवर है। आपसे ली गई जानकारियों का इस्तेमाल इतने बड़े स्तर पर होता है जिसका आपको अंदाजा तक नहीं होगा। आपको हैरानी होगी कि आपके द्वारा सोशल मीडिया पर शेयर की गईं जानकारियों का इस्तेमाल सरकार बनाने से लेकर सरकार गिराने तक में किया जा सकता है।

आपसे ली गईं जानकारियों का व्हाट्सएप कैसे करेगा इस्तेमाल?

कोई भी कंपनी आपसे आपसे दो तरीके से डाटा लेती है और ये दो तरीके प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष हैं। जब भी आप किसी वेबसाइट पर जानते हैं तो आप कूकिज के लिए हां करते हैं। जब भी आप कोई एप या सॉफ्टवेयर को फोन या कंप्यूटर में इस्टॉल करते हैं तो उसकी सेवा शर्तों को बिना पढ़े स्वीकार कर लेते हैं। आमतौर पर कोई कंपनी सीधे तौर पर यह नहीं कहती है कि वह आपके डाटा का इस्तेमाल अपने बिजनेस के लिए करेगी और किसी अन्य कंपनी के साथ शेयर करेगी लेकिन व्हाट्सएप कई नई सेवा शर्तों में यह साफतौर पर लिखा गया है कि वह आपके डाटा को फेसबुक और उसकी अन्य कंपनियों के साथ शेयर करेगा।

मतलब यह कि व्हाट्सएप पर आप किससे क्या बात कर रहे हैं, कौन-सा लिंक शेयर कर रहे हैं, किस ग्रुप में ज्यादा मैसेज कर रहे हैं, कहां जा रहे हैं, किसके साथ लोकेशन शेयर कर रहे हैं। इन सभी जानकारियों को व्हाट्सएप अपने सर्वर पर स्टोर करेगा और फिर इनका इस्तेमाल फेसबुक और इंस्टाग्राम पर विज्ञापन के लिए करेगा। इसके अलावा फेसबुक आपके डाटा को उन कंपनियों के साथ भी शेयर करेगा जो कि उसके पार्टनर हैं।
 

डाटा प्रोटेक्शन को लेकर भारत में कानून

डाटा लीक- यूजर डाटा प्रोटेक्शन को लेकर भारत में कानून तो है लेकिन वह हाथी के दांत जैसा है यानी इस कानून के तहत किसी को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है और ना ही उसे सजा हो सकती है। ऐसे में टेक कंपनियों पर डाटा प्रोटेक्शन को लेकर भारत से किसी प्रकार का कोई डर नहीं है, जबकि अमेरिका और यूरोप जैसे देश में यूजर डाटा प्रोटेक्शन को लेकर सजा और भारी-भरकम जुर्माने तक का प्रावधान है। अमेरिका जैसे देश ने इन टेक कंपनियों पर डाटा को लेकर दवाब बनाना भी शुरू कर दिया है। भारत में डाटा प्रोटेक्शन को लेकर जो कानून है उसमें देश के अंदर सर्वर लगाने से ज्यादा कुछ नहीं है। अब सरकार के लिए यह जरूरी है कि वह कठोर डाटा प्रोटेक्शन कानून लाए ताकि यूजर्स को अपने डाटा को लेकर निश्चिंत रहें।
व्हाट्सएप की नई शर्तों का आप पर क्या पड़ेगा?

नई शर्तों के मुताबिक व्हाट्सएप आपके एक-एक मैसेज पर बारिकी से नजर रखेगा, उसे पढ़ेगा, समझेगा और एक फाइल तैयार करेगा, जबकि व्हाट्सएप हमेशा से कहता आ रहा है कि उसका एप पूरी तरह से एंड टू एंड एंक्रिप्टेड है यानी आपके मैसेज की जानकारी सिर्फ आपके और प्राप्त करने वाले पास रहती है। मतलब नई शर्तों के मुताबिक व्हाट्सएप अब एंड टू एंड एंक्रिप्टेड नहीं रह जाएगा। कंपनी आपके मैसेज देखेगी और उसे अपने सर्वर पर स्टोर करेगी।

आप किससे सबसे ज्यादा चैट करते हैं, किस ग्रुप में सबसे ज्यादा मैसेज करते हैं, कौन-से प्रोडक्ट की फोटो शेयर करते हैं, आपकी लोकेशन क्या है, ऐसे सभी जानकारी व्हाट्सएप के पास होगी। व्हाट्सएप की नई शर्तों के लागू होने के बाद व्हाट्सएप आपकी चैटिंग पर नजर रखेगा और आपके मैसेज के आधार पर फेसबुक और इंस्टाग्राम पर विज्ञापन दिखाए जाएंगे। 

इसे एक उदाहरण से समझें तो मान लीजिए कि आप अपने दोस्त के साथ अमेजन पर बिक रहे किसी प्रोडक्ट का लिंक शेयर करते हैं तो व्हाट्सएप आपके इस मैसेज के आधार पर आपको और आपके दोस्त को उस प्रोडक्ट का विज्ञापन फेसबुक और इंस्टाग्राम पर दिखाए। तो कुल मिलाकर बात इतनी-सी है कि आपके व्हाट्सएप डाटा का इस्तेमाल फेसबुक अपने बिजनेस, अपने फायदे के लिए करेगा और इसे आप रोक नहीं सकते, यदि आपको रोकना है तो आपको अपने व्हाट्सएप अकाउंट को डिलीट करना होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.