what is love

रायपुर- प्यार में ठुकराए जाने पर उससे उबर पाना हर किसी के लिए आसान नहीं होता और हमारे पास इसे साबित करने के लिए एकतरफा प्यार की कई कहानियां और बॉलीवुड फिल्में है।यह हर किसी की जिंदगी का एक अभिन्न हिस्सा होता है और कोई भी इसे नकार नहीं सकता। इस स्थिति से भागने के बजाए आपको ऐसे हालात को संभालने के तरीकों को सीखना चाहिए क्योंकि कभी-कभार हालात हद से ज्यादा बिगड़ जाते हैं, जिनका अंजाम काफी घातक साबित होता है।अगर आप भी कुछ ऐसी ही स्थिति से गुजर रहे हैं या आपके लिए भी प्यार में ठुकराए जाने से उबरना मुश्किल हो रहा है तो हम आपके ऐसे कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं, जिसके जरिए आप इस स्थिति से उबर सकते हैं और एक बेहतर इंसान बन सकते हैं।

दूसरे की भावनाओं को समझें

प्यार में ठुकराया जाना दर्द भरा होता है लेकिन इस स्थिति से बाहर निकलने के लिए दूसरे व्यक्ति की भावनाओं को समझना बेहद जरूरी है। मानसिक रूप से मजबूत लोग अपने प्रति ईमानदार रहते हैं और उनकी भावनाओं को स्वीकार करते हैं। वह प्यार में ठुकराए जाने पर मिले दुख, गुस्से और निराशा जैसी अपनी भावनाओं से बाहर आने के लिए ‘राइट कोपिंग’ तंत्र को अपनाते हैं।

एक बार ठुकराया जाना उन्हें परिभाषित नहीं करता

मानसिक रूप से मजबूत लोग समझते हैं कि प्यार में एक बार ठुकराया जाना उन्हें या उनकी जिंदगी को परिभाषित नहीं करता। अगर उनका प्यार उन्हें नजरअंदाज करता है वे ऐसा समझना शुरू नहीं कर देते कि उनकी दुनिया खत्म हो चुकी है या फिर उन्हें कोई प्यार नहीं करता। वे अपने आपको बेहतर बनाने पर काम करने लगते हैं और दूसरों को कम मोल देते हैं।

दोस्त और परिवार के साथ बातें साझा करें

ऐसा न करें कि प्यार में ठुकराए जाने के बाद खुद को अकेला महसूस करें और अपने आप को नकरात्मक विचारों से घिरा हुए पाएं। उसके बारे में जरूरत से ज्यादा सोचने के बजाए आप अपनी सच्ची भावनाओं को अपने करीबी दोस्तों या परिवार के सदस्यों के साथ साझा करें। इससे आपको बेहतर महसूस होगा और आप इससे उबरने के रास्ते खोज पाएंगे।

इसे एक मौका समझें

जो लोग स्मार्ट होते हैं वह प्यार में ठुकराए जाने को सीखने के एक अवसर और व्यक्तिगत तौर पर बढ़ने के रूप में लेते हैं। वह इस हालात से निपटने के लिए अपनी कमजोरियों को दूर करने का तरीका खोजते हैं, ताकि वह बेहतर कर सकें। वह इसे एक अनुभव के तौर पर देखते हैं और अधिक बुद्धिमानी के साथ जिंदगी में आगे बढ़ते हैं।

विचारों को सकरात्मक रुख दें

आपके विचारों में आपके मूड और आपकी जिंदगी को दिशा देने की शक्ति होती है। नकरात्मक चीजों पर ध्यान देने के बजाए उन्हें सकरात्मक दिशा देने का प्रयास करें। उदाहरण के लिए ऐसा न सोचे कि मैं रिश्ते के लिए नहीं बना हूं और कोई मुझसे प्यार नहीं करेगा बल्कि आप ऐसा सोचें कि रिश्ते बनाना उतना आसान नहीं है और उसे बनाने के लिए अपने साथी के साथ कड़ी मेहनत करने की जरूरत है।आप सीखने और दोबारा गलती नहीं करने पर ध्यान लगाएं।

Summary
0 %
User Rating 4.65 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In लाइफस्टाइल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन संघ अम्बागढ़ चौकी में बैठक सम्पन्न

राजनांदगांव-छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन संघ की बैठक बी आर सी भवन अम्बागढ़ चौकी में प्रांत…