रायपुर – टिकरापारा थाना पुलिस ने नशीली दवाओं की तस्करी करते दो लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपित कार में प्रतिबंधित कप सिरप की तस्करी करते थे। दोनों के खिलाफ एनडीपीएस के तहत अपराध कायम कर जेल भेज दिया गया। एक आरोपित नशीली दवाइओं की तस्करी में पहले भी जेल जा चुके हैं। जेल से छूटने के बाद फिर से तस्करी के काम को करने लगे थे।

रायपुर में पुलिस के लगातार नशीली दवाओं की बिक्री पर रोक लगाने के बाद भी बिक्री पर लगाम नहीं लग रही है। इसलिए रायपुर की पुलिस ने अपने-अपने थाना क्षेत्रों में मुखबिरों को लगाया है। जिससे गांजा और नशीली दवाओं को बेचने वालों को पकड़ा जा सके।

पुलिस ने बताया कि आरोपित सज्जाद हुसैन और लाला ठाकुर उर्फ गेंदलाल दोनों दोस्त हैं। दोनों प्रतिबंधित सिरप की तस्करी करते थे। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर छापा मारकर सज्जाद को पकड़ा। उसकी कार की तलाशी के दौरान सीट के पास और अन्य जगहों से सिरप मिला। उससे सिरप के जरूरी दस्तावेज मांगे गए तो वह नहीं दिखा सका।

इसके बाद उसकी निशानदेही पर पुलिस ने लाला को पकड़ा। उसकी कार में कप सिरप था। रोपित जनरेटर किराए पर देते थे, उसमें भी कप सिरप छिपाकर रखे थे। पुलिस ने दोनों आरोपितों के साथ दो कार और जनरेटर को जब्त किया है। आरोपितों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि ओडिशा से प्रतिबंधित कप सिरप लेकर आए थे।

300 रुपये में बेचते थे सिरप

कप सिरप का मूल्य लगभग 150 रुपये लिखा हुआ है, लेकिन तस्कर इसे 300 से ज्यादा रेट पर युवाओं को बेचते थे। यह काम दोनों काफी लंबे समय से कर रहे हैं। आरोपित कार में घूम-घूमकर तस्करी करते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.