गृह मंत्री द्वारा क्राइम प्रकरणों की सतत समीक्षा और कड़े निर्देशों के फलस्वरूप बहुचर्चित शुभम हत्याकांड के तीन आरोपी गिरफ्तार

क्राइम प्रकरणों का संज्ञान में आने पर त्वरित गति से कार्रवाई के लिए गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू द्वारा निर्देशों के फलस्वरूप राजनांदगांव में लगभग ढ़ाई साल पहले बहुचर्चित शुभम हत्याकांड के तीन आरोपी गिरफ्तार किए गए। गृह मंत्री प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही हत्या, लूट, मानव तस्करी, महिलाओं के प्रति अपराध से संबंधित घटनाएं उनके संज्ञान में आने पर डीजीपी, आईजी एवं एसपी सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल कार्रवाई के निर्देश देते हैं। उन्होंने समय-समय पर जिला एवं राज्य स्तरीय बैठक लेकर क्राइम प्रकरणों की समीक्षा और उनके निराकरण के निर्देश देते रहे हैं।

गृह मंत्री के निर्देश पर राजनांदगांव पुलिस को शुभम हत्याकांड के आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजने में बड़ी सफलता मिली है। उल्लेखनीय है कि सितम्बर 2018 में राजनांदगांव में शुभम नामदेव घायल अवस्था में मिला था। डायल 112 की टीम द्वारा इलाज हेतु अस्पताल ले जाते समय रास्ते में शुभम की मृत्यु हो गई थी।

इस पर थाना लालबाग द्वारा हत्या का मामला कायम कर जांच में लिया गया था। लगभग 300 लोगों से पूछताछ और ढ़ाई हजार से ज्यादा लोगों के कॉल डिटेल खंगालने के बाद भी हत्या के संबंध में कोई सुराग नहीं मिल पाया तथा कोरोना संक्रमण के कारण पिछले वर्ष संदेहियों का नार्को एवं ब्रेन मेपिंग टेस्ट कराने की अनुमति भी प्राप्त नहीं हुई थी।

स्थिति सामान्य होने के बाद कुछ संदेहियों का गुजरात स्थित गांधीनगर में नार्कों एवं ब्रेन मेपिंग टेस्ट कराया गया। टेस्ट रिर्पोट पॉजीटिव आने पर पुलिस महानिरीक्षक विवेकानन्द सिन्हा एवं पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण के कुशल नेतृत्व में गठित पुलिस अधिकारियों की टीम ने टेस्ट रिपोर्ट के आधार पर बारीकी से पूछताछ के लिए संदेहियों को पुनः तलब किया गया। मनोवैज्ञानिक ढंग से पूछताछ करने पर तीन आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया। अपराधियों में नितिन लिम्बु उम्र 40 वर्ष गौरी नगर, दिनेश माहेश्वरी उर्फ गोलू मारवाड़ी उम्र 37 वर्ष किलापारा एवं मेघा तिवारी उम्र 24 वर्ष सृष्टि कालोनी राजनांदगांव शामिल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.