अंबिकापुर- मेडिकल कालेज अस्पताल में महिला ने तीन स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया।प्रसव के लिए आपरेशन करने की जरूरत ही नहीं पड़ी।सामान्य प्रसव से तीनों बच्चों का जन्म हुआ।तीनों का वजन कम होने के कारण विशेष नवजात गहन चिकित्सा इकाई में रखा गया है।तीनों बच्चे व मां का स्वास्थ्य ठीक है।

जानकारी के मुताबिक कमलावती पति दिलबर 22 वर्ष को प्रसव पीड़ा होने पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लुंड्रा में भर्ती किया गया था।यहां चिकित्सक ने जांच में पाया कि महिला के गर्भ में एक से अधिक बच्चे है।विशेषज्ञ चिकित्सक की उपलब्धता नहीं होने के कारण महिला को मेडिकल कालेज अस्पताल रिफर कर दिया गया।लुंड्रा से अंबिकापुर आते समय महिला की प्रसव पीड़ा और बढ़ गई।मेडिकल कालेज अस्पताल में लाने के बाद सीधे महिला को सामान्य प्रसव कक्ष में ले जाया गया।यहां ड्यूटी में तैनात चिकित्सक व स्टाफ नर्सों की टीम ने महिला का सुरक्षित सामान्य प्रसव कराया।एक के बाद एक तीन बच्चों का जन्म होने से स्वजन में खुशी की लहर दौड़ गई।दो बालक और एक बालिका है।

तीनों का वजन कम है।पहले बच्चे का वजन डेढ़ किलो, दूसरे का एक किलो 600 ग्राम तथा तीसरे का वजन एक किलो 800 ग्राम है।सबसे अच्छी बात है कि चिकित्सक ने बिना आपरेशन प्रसव कराया।चिकित्सक ने बताया कि जच्चा-बच्चा सभी पूरी तरह से स्वस्थ है।बच्चों को कुछ दिनों के लिए विशेष शिशु गहन चिकित्सा इकाई में रखा गया है ताकि उनकी देखभाल और अच्छे तरीके से हो सके।

बता दें कि मेडिकल कालेज अस्पताल में अब सभी विभागों के विशेषज्ञ चिकित्सक पदस्थ है इसलिए अंचल के मरीजों को निश्शुल्क सारी सुविधाएं मिल पा रही है अन्यथा उन्हें निजी अस्पतालों की दौड़ लगानी पड़ती।ऐसे केस में अमूमन चिकित्सक किसी भी तरह रिस्क नहीं लेना चाहते लेकिन मेडिकल कालेज अस्पताल में सामान्य प्रसव से तीन बच्चों का जन्म हुआ।अस्पताल अधीक्षक डा लखन सिंह ने बताया कि प्रबंधन की पूरी कोशिश उपलब्ध सुविधाओं और संसाधनों का लाभ मरीजों को देने की है।अब यहां जटिल आपरेशन के साथ अत्याधुनिक चिकित्सकीय जांच व उपचार की सुविधा भी मिल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.