कहानी ऐसे युवा की जिसने असफलताओं से ली सीख, 2 बार फेल होने के बाद बना IAS

कई बार व्यक्ति अपनी असफलताओं से सीख लेता है और सफल हो जाता है।ऐसी ही कहानी है आईएएस ऋषभ की।जो असफल होने पर निराश नहीं हुए और कड़ी मेहनत की बदौलत IAS अधिकारी बने।ऋषभ दो बार असफल होने के बाद तीसरी बार UPSC परीक्षा में 23वीं ऑल इंडिया रैंक लाए। वह साल 2018 में IAS अफसर बने हैं।इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद IAS अफसर बनने वाले ऋषभ का कहना है कि अगर आप UPSC में सफलता पाना चाहते हैं,तो तैयारी करने के साथ ही नोट्स भी बनाएं।

वह कहते हैं कि आपके द्वारा बनाए गए नोट्स आपको परीक्षा में काफी मदद देंगे।इन नोट्स के जरिए अभ्यर्थी कम वक्त में रिवीजन कर सकते हैं।उनका मानना है कि UPSC की तैयारी के वक्त आपको सकारात्मक रहना चाहिए।अपनी गलतियों को सुधारकर बेहतर तरीके से प्रयत्न करें।इससे आपको जरूर सफलता मिलेगी।

उनका कहना है कि तैयारी के दौरान पिछले सालों के प्रश्न पत्रों को जरूर देखें।ऐसा करने से आपको यह समझ आएगा कि यूपीएससी परीक्षा में किस तरह के प्रश्न पूछते हैं।वह कहते हैं कि पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद अभ्यर्थियों को रिवीजन पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान देना चाहिए। मॉक टेस्ट हल करने चाहिए और खुद का टाइम टेबल बनाना चाहिए।

मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि पहली बार UPSC की परीक्षा में वह असफल हुए।लेकिन हार नहीं मानी और फिर से यूपीएससी की परीक्षा दी पर फिर से उनके हाथ असफलता लगी।आखिर में तीसरे प्रयास में वह सफल हुए और ऑल इंडिया 23वीं रैंक लाए।वह कहते हैं कि कुछ लोग असफलताओं से निराश होकर UPSC का सफर खत्म कर देते हैं।जबकि ऐसा नहीं करके अभ्यर्थियों को धैर्य के साथ आगे बढ़ना चाहिए। एक न एक दिन सफलता हाथ जरूर लगेगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.