Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

प्लेऑफ की तस्वीर हुई थोड़ी साफ- अब टॉप की दो पोजिशन के लिए जंग हुई तेज

नई दिल्ली|इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन में रविवार के हुए दो मैचों के बाद से प्वाइंट टेबल की तस्वीर अब कुछ साफ होना शुरू हो गई है|इस सीजन के रोमांच का आलम यह रहा की प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने वाली पहली टीम का फैसला सीजन के 46 वें मैच के बाद भी औपचारिक रूप से नहीं हो सका है|विराट कोहली की बेंगलुरू टीम सीजन में बाहर होने वाली पहली टीम बन रही है|वहीं कोलकाता खुद को बाहर होने से बचा गई|जीतने वाली टीमों में दिल्ली ने टॉप पर पहुंचकर लड़ाई रोचक कर दी|वहीं मुंबई की हार ने उसे एक झटका देकर चिंता में डाल दिया है|बेंगलुरू क्यों नहीं आ सकती अब प्लेऑफ की लड़ाई मे बेंगलुरू की टीम 12 मैचों में से अब तक चार मैच ही जीत सकी है|अब अगर वह बाकी दो मैच जीत भी जाती है तो 12 अंकों के साथ वह प्लेऑफ की लड़ाई में नजर नहीं आएगी क्योंकि तीन टीमों के पहले ही 12 से ज्यादा अंक हैं और बाकी तीन टीमें कम से कम एक मैच तो जरूर जीतेंगी और उनका नेटरेट बेंगलुरू से बेहतर ही होगा|इस तरह बेंगलुरू अब घोषित रूप से इस आईपीएल से बाहर हो गई है|

दिल्ली ने क्या कर दिया

बेंगलुरू को हरा कर दिल्ली ने दो अहम अंक हासिल करते हुए 16 अंकों के साथ प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाबी हासिल की है|उसने बेहतर नेट रनरेट के कारण चेन्नई को दूसरे स्थान पर खिसका दिया है|दिल्ली का नेट रनरेट +0.233 है जबकि चेन्नई का नेट रनरेट -0.113 है|इस जीत से दिल्ली ने चेन्नई की नींद उड़ा दी है|अब चेन्नई को टॉप पर आने के लिए मश्क्कत करनी होगी और उसे बुधवार को दिल्ली को हराना ही होगा अगर उसे टॉप पर रहना है|तो कोलकाता मुंबई

मैच ने कैसे बदला गणित

कोलकाता और मुबई के बीच का मैच कोलकाता के लिए करो या मरो का था|लेकिन कोलकाता ने 34 रनों की जीत हासिल कर मुंबई की नींद उड़ा दी|अब कोलकाता ने की प्लेऑफ की दौड़ में बनी हुई है|वहीं मुंबई के लिए चिंताएं बढ़ गई हैं|उसके फिलहाल 12 मैचों में +0.347 नेटरेट के साथ 14 अंक हैं|वह अभी तीसरे स्थान पर है|लेकिन अगर वह इसी तरह बाकी दो मैच भी हार गई तो प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो सकती है| अभी उसे कोलकाता के खिलाफ एक मैच और खेलना है|लेकिन यह मैच उसके ही घर में होगा|

अब शीर्ष के लिए जंग के गणित पर है सबकी नजर

अब प्वाइंट टेबल में प्लेऑफ की दो टीमों का फैसला तो हो चुका है|ये टीमें दिल्ली और चेन्नई हैं|अब इनकी जरूरत केवल इतनी भर है कि वे टॉप दो टीमों में बनी रहें|फिलहाल दिल्ली मजबूत है पर हैदराबाद आकर खेल बिगाड़ सकती है|अगर हैदराबाद ने अपने बचे तीन मैच जीते तो वह इन दोनों टीमों में से एक को नीचे खिसका सकती है|जबकि चेन्नई दिल्ली मैच की विजेता टीम टॉप पर सकती है. काफी कुछ दिल्ली और चेन्नई के बाकी बचे एक मैच पर भी निर्भर होगा| वहीं मुंबई की दो जीत के साथ ही टॉप की जंग में वापस आ सकती है|लेकिन इसमें कुछ अगर मगर हैं|

जानिए कौन है बॉलीवुड के सुपरस्टार्स जिन्होंने दिए हैं फ्लॉप फिल्में

चौथे स्थान के लिए क्या

हैदराबाद कर पर अब भी काफी कुछ निर्भर करता है उसे अपने तीन मैच पंजाब|मुंबई और बेंगलुरू के खिलाफ मैच खेलने हैं| नेट रन रेट में मुंबई उससे और पीछे हो गई है|सोमवार को पंजाब के साथ होने वाला मैच काफी कुछ स्पष्ट कर सकता है|यह डेविड वार्नर का सीजन का आखिरी मैच है|इसके बाद वे बाकी मैचों में नहीं खेलेगे|ऐसे में टीम की राह तीनों मैच जीतने के लिए आसान नहीं है|पंजाब, कोलकाता और राजस्थान की मुश्किल बड़ी हैं|क्योंकि उनके अब केवल दो मैच ही बचे हैं|ये तीनों टीमें अपने मैचों से पूरा प्वाइंट टेबल हिला देने का माद्दा रखती हैं|

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.