इमरान खान ने कहा कि ‘शुरुआत में हमने क्रांतिकारी कदम उठाकर तेजी से बदलाव लाने का प्रयास किया, लेकिन बात में अहसास हुआ कि हमारा तंत्र झटके सहने को तैयार नहीं है।’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया है कि वह अपने देश में वैसा बदलाव नहीं ला सके, जैसा उन्होंने सत्ता में आने के पूर्व किए वादों में किया था। इसके लिए उन्होंने अफसोस भी जताया, लेकिन परिवर्तन नहीं ला पाने का दोष पाकिस्तान के सरकारी तंत्र पर मढ़ा।

पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान ने कहा कि ‘शुरुआत में हमने क्रांतिकारी कदम उठाकर तेजी से बदलाव लाने का प्रयास किया, लेकिन बाद में अहसास हुआ कि हमारा तंत्र झटके सहने को तैयार नहीं है।’ यह बात इमरान खान ने अपनी सरकार के 10 श्रेष्ठ मंत्रियों के सम्मान समारोह में कही। पाक पीएम ने कहा कि सरकार व उसके मंत्रालय वांछित नतीजे नहीं दे सके।

डॉन के अनुसार इमरान खान ने कहा कि सबसे बड़ी समस्या यह है कि सरकार और देश के हित के बीच कोई संबंध ही नहीं है। हमारे मंत्री इस काम में जुटे हैं कि कैसे निर्यात बढ़ाकर देश के लोगों की हालत सुधारी जाए? कैसे देश की गरीबी को खत्म करें?

पीडीएम ला रही अविश्वास प्रस्ताव

इस बीच जियो न्यूज ने खबर दी है कि पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) ने एलान किया है कि वह पाक संसद में इमरान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी। पीडीएम के प्रमुख फजलुर रहमान ने लाहौर में पार्टी की बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि गठबंधन ने सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीके इंसाफ पार्टी (PTI) के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश करने का सर्वसम्मत फैसला किया है।

पीडीएम नेता ने कहा कि गठबंधन इमरान सरकार के सहयोगी दलों से संपर्क करेगा ताकि नेशनल असेंबली में प्रस्ताव के पक्ष में बहुमत के लिए उनकी भी सहमति बनाई जा सके। पीडीएम प्रमुख ने कहा कि पार्टी ने इस आधार पर अविश्वास प्रस्ताव की घोषणा की है क्योंकि हमारा ऐसा करने का दृढ़ इरादा है। हालांकि इसके पहले हम होमवर्क करेंगे। इस कदम के लिए निश्चित समय सीमा के बारे में अभी नहीं बता सकते।

विपक्षी दल हो रहे एकजुट

पाकिस्तान के विपक्षी दल इमरान सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए परस्पर मतभेद को छोड़कर एकजुट हो रहे हैं। ये अविश्वास प्रस्ताव व सड़कों पर प्रदर्शन की भी योजना बना रहे हैं। इमरान सरकार के कुशासन के खिलाफ विपक्ष एक मोर्चा बनाने की भी सोच रहे हैं।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP), पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज गुट (PML-N) और इमरान की सहयोगी पार्टी मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट, पाकिस्तान मुस्लिम लीग (PML-Q) पूर्व क्रिकेट कप्तान को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए एकजुट हो रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.