मुख्यमंत्री के इस निर्णय से मजदूर अब नहीं होंगे पलायन को मजबूर

रायपुर MyNews36 – मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार लॉकडाउन के बाद छत्तीसगढ़ वापस लौटे प्रवासी श्रमिकों को उनके कौशल के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश के सभी जिलों में रोजगार कैम्प आयोजित करने जा रही है जिला कांग्रेस कमेटी रायपुर ग्रामीण के पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नारायण कुर्रे ने मुख्यमंत्री के इस निर्णय का सराहना करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ब्यक्त किया है।

उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री ने एक बार फिर संवेदनशीलता का परिचय देते हुए प्रवासी मजदूरों की चिंता करते हुए रोजगार उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है जिससे मजदूरों को अन्य प्रदेशों में पलायन करने की नौबत नहीं आएगी साथ ही मजदूरो के 15 साल के लगातार पलायन का सिलसिला भी रुकेगा।

ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री के निर्देश में राज्य सरकार के उद्योग एवं श्रम विभाग तथा व्यावसायिक संगठनों से समन्वय कर विभिन्न उद्योगों और संस्थानों से मिली जानकारी के आधार पर जिलों में प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार कैम्प आयोजित किए जाएंगे। इससे श्रमिकों के कौशल के अनुसार उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जा सकेगा।

छत्तीसगढ़ राज्य कौशल विकास प्राधिकरण एवं राज्य परियोजना लाईवलीहुड कॉलेज सोसायटी के उप मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा जिलों में प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार कैम्पों के आयोजन और प्रक्रिया के संबंध में सभी जिलों के कौशल विकास नोडल अधिकारियों को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

जिलों के नोडल अधिकारियों को आयोजित किए जाने वाले रोजगार कैम्प के लिए स्थान का चयन और कैम्प में शामिल होने वाले प्रवासी श्रमिकों की संख्या का निर्धारण करने के निर्देश दिए गए हैं। कैम्प के दौरान सभी लोगों द्वारा फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित निर्देश दिए गए हैं।

जिला स्तर पर प्रवासी मजदूरों की जानकारी नियोक्ताओं को सीधे उपलब्ध कराने को कहा गया है। जिससे नियोक्ता प्रवासी श्रमिकों से सीधे सम्पर्क स्थापित कर सकें। नियोक्ताओं को दूरभाष या वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, वेबीनार जैसे माध्यमों के द्वारा भी प्रवासी श्रमिकों से सम्पर्क करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है। निर्देशों में यह भी कहा गया है कि यदि कोई प्रवासी श्रमिक स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर हेतु चिन्हांकित नियोक्ताओं एवं रोजगार की प्रकृति जानने का इच्छुक हो तो उसे नियोक्ताओं की जानकारी उपलब्ध करायी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.