मानसिक बीमारियां एक दिन में किसी को नहीं होती, बल्कि ये धीमे-धीमे आपको अपना शिकार बनाती है। मानसिक बीमारियों की शुरुआत जरूरत से ज्यादा सोचने से शुरू होती है। ऐसे में सबसे जरूरी है सकारात्मक सोच रखना। पर क्या आपको पता की कुछ चीजों की खुशबू आपके सोच पर एक गहरा असर डाल सकती है। दरअसल किसी भी गंध का आपके मेमोरी सेंटर से सीधा लिंक है। जब आप किसी चीज को सूंघते हैं, तो गंध सीधे आपके मस्तिष्क के सेंटर तक पहुंच जाती है, जो सीधे मस्तिष्क के उन क्षेत्रों से जुड़े होते हैं जो भावनाओं और सीखने की प्रक्रिया को प्रभावित करती है। अगर आप सुबह-सुबह उठकर कुछ चीजों का सूंघे, तो ये आपके दिमाग को सही रखेगा और आपको एक्टिवेट करेगा।

मानसिक स्वास्थ्य और सुगंध

हमारे दिमाग में हिप्पोकैम्पस (hippocampus) आपकी याददाश्त के लिए जिम्मेदार होता है, एमिग्डेल वह जगह है जहां आपकी भावनाओं को संसाधित किया जाता है। कई अध्ययनों से पता चला है कि सुगंध उत्पादकता में सुधार के लिए स्मृति, एकाग्रता, निरंतर ध्यान और संज्ञानात्मक कार्य जैसी चीजों को प्रभावित करती है। एक अध्ययन ने सुझाव दिया कि कुछ सेंट्स (Scents) सकारात्मक यादें पैदा कर सकते हैं, जो बदले में मूड को बेहतर बनाने और तनाव को कम करने में मदद करते हैं। जैसे कि

(1) नींबू की टेंगी खुशबू- नींबू की टेंगी गंध इंद्रियों को उत्तेजित करने और संज्ञानात्मक कार्य में सुधार करने में मदद कर सकती है, विशेष रूप से एकाग्रता को बढ़ावा देने में। एक अध्ययन में, जिन प्रतिभागियों को नींबू सूंघने के लिए कहा गया था, उन्हें टाइप करते समय 54 प्रतिशत कम त्रुटियां हुईं। नींबू की गंध में शांत और स्पष्ट करने वाले गुण भी होते हैं जो आपको गुस्सा, चिंता या कम होने पर आपकी मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, इस फल का सेवन गले में खराश और जुकाम से लड़ने में मदद कर सकता है, इसके एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुण भी होते हैं।

(2) चमेली का तेल- चमेली के तेल का उपयोग नसों को शांत करने और अवसाद रोधी के रूप में किया जाता है। चमेली की गंध मूड तो बूस्ट करने की क्षमता रखता है, जो आत्मविश्वास, आशा और सकारात्मक मनोदशा की भावना को बढ़ावा दे सकती है, साथ ही ऊर्जा को पुनर्जीवित कर सकती है। ब्रेक के दौरान चमेली सूंघना तुरंत आपके दिमाग को ताज़ा कर सकता है और आपकी उत्पादकता में सुधार कर सकता है।

(3) लैवेंडर- लैवेंडर की मीठी गंध नसों पर सुखदायक प्रभाव डालती है। यह तंत्रिका तनाव, अवसाद, सिरदर्द और माइग्रेन को राहत देने में मदद कर सकता है। बाकी समय के दौरान लैवेंडर के तेल को सूंघने से आपका दिमाग ताज़ा और रिचार्ज हो सकता है। जब आप काम पर लौटते हैं तो यह एकाग्रता में सुधार करने में मदद करता है। इन सबके साथ ही लैवेंडर भावनात्मक तनाव को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता है।

(4) दालचीनी- शोध से पता चला है कि दालचीनी की गंध मानसिक थकान से लड़ने और एकाग्रता और ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकती है। दालचीनी के उत्तेजक गुण मोटर प्रतिक्रिया की गति को बढ़ा सकते हैं और मेमोरी को बढ़ाते हैं। ये पढ़ाई करने वाले लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है। एक अध्ययन से पता चलता है कि महक वाले दालचीनी कई प्रकार के स्मृति कार्यों में प्रदर्शन को बेहतर कर सकते हैं।

(5) पुदीना- अगर आपको सुबह जल्दी ऊर्जा बढ़ाने की आवश्यकता है, तो बस कुछड पुदीने की पत्तियों का हाथ में लें और इसे मसल कर सूंघ लें। पेपरमिंट की खुशबू मन को पुनर्जीवित करती है, एकाग्रता को बढ़ावा देती है और सतर्कता बढ़ाती है। 2013 के एक अध्ययन ने सुझाव दिया कि पुदीना का तेल थकान को रोकने और व्यायाम प्रदर्शन में सुधार के लिए प्रभावी है।

इन चीजों के अलावा आपके घर में रखी कॉफी की खुशबू भी आपको बेहतर महसूस करवा सकती है। एक अध्ययन की मानें, तो कॉफी को सूंघने वाले छात्रों ने विश्लेषणात्मक तर्क कार्यों पर बेहतर प्रदर्शन किया। तो अगर आप सुबह एक खराब मूड के साथ उठते हैं, तो इन चीजों की गंध लें और खुद को बेहतर महसूस करवाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Director & CEO - MANISH KUMAR SAHU , Mobile Number- 9111780001, Chief Editor- PARAMJEET SINGH NETAM, Mobile Number- 7415873787, Office Address- Chopra Colony, Mahaveer Nagar Raipur (C.G)PIN Code- 492001, Email- wmynews36@gmail.com & manishsahunews36@gmail.com