Teachers Job : शिक्षक पात्रता परीक्षा पास अभ्यर्थियों को स्कूल शिक्षा विभाग दोबारा जारी करेगा प्रमाण पत्र

IBPS SO Vacancy 2020

रायपुर – छत्तीसगढ़ शिक्षक पात्रता परीक्षा प्रमाण-पत्र की वैधता अब आजीवन रहेगी। इसके लिए प्रदेश के करीब डेढ़ लाख अभ्यर्थियों को स्कूल शिक्षा विभाग दोबारा प्रमाण पत्र जारी करेगा। आने वाले समय में शिक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया में यह प्रमाण पत्र अनिवार्य होगा। स्कूली शिक्षा विभाग ने शिक्षक पात्रता प्रमाण-पत्र की वैधता की सात वर्ष की अवधि को विलोपित करते हुए इसे आजीवन कर दिया है। इससे करीब डेढ़ लाख अभ्यार्थियों के लिए नौकरी पाने का अवसर मिल गया है।

बताते चलें कि निर्धारित समय तक समय पर नियुक्ति नहीं होने से साल 2018 के अंतिम तक इन उम्मीदवारों के प्रमाण-पत्र की वैधता खत्म हो चुकी थी । राज्य में पहली बार साल 2011 में छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) ने TET का आयोजन किया था। इस परीक्षा से प्राइमरी स्कूल के लिए 51 हजार 662 और मिडिल स्कूल के लिए 25 हजार 855 उम्मीदवारों ने प्रमाण-पत्र हासिल किया था।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ शिक्षक पात्रता परीक्षा के संबंध में वर्ष 2011 की मार्गदर्शिका में एक बार परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्यर्थी के लिए प्रमाण पत्र की वैधता अवधि अधिकतम सात वर्षों तक के लिए निर्धारित थी, जिसे अब शिक्षा विभाग ने हटा कर आजीवन कर दिया है।

राज्य शासन के स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आदेश बुधवार को यहां मंत्रालय से जारी कर दिया गया है। इसमें स्पष्ट रूप से उल्लेखित किया गया है कि यह आदेश 2011 से अब तक समस्त शिक्षक पात्रता परीक्षा प्रमाण पत्र के संबंध में भी मान्य होगा। आदेश में इसके साथ ही यह भी उल्लेखित किया गया है कि जिन अभ्यर्थियों के शिक्षक पात्रता परीक्षा प्रमाण पत्र की वैधता समाप्त हो गई है, उनके लिए नया प्रमाण-पत्र जारी किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.