कोंडागाँव MyNews36 प्रतिनिधि- 1जुलाई का दिन शिक्षाकर्मियों के लिए खास महत्व रखता है और आज 1 जुलाई 2020 एक बार फिर शिक्षाकर्मियों के लिए ऐतिहासिक दिन बनने की ओर अग्रसर है। इस दिन प्रदेश के लगभग 16000 शिक्षाकर्मियों का स्कूल शिक्षा विभाग में संविलियन होना है। 1जनवरी 2020 को होने वाले संविलियन का आदेश भी स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से उसकी पूर्व संध्या को ही आया था। इसलिए शिक्षाकर्मियों को उम्मीद है कि आज या फिर आने वाले एक-दो दिनों में 1जुलाई 2020 से संविलियन होने वाले शिक्षाकर्मियों के लिए आदेश आ जाएगा।

ज्ञात हो कि अभी 2 दिन पहले ही लोक शिक्षण ने सभी डीईओ को पत्र जारी किया था जिसमें इस बात को स्पष्ट किया गया था कि 2 वर्ष की अवधि पूर्ण कर चुके सभी शिक्षाकर्मियों का संविलियन 1 जुलाई की स्थिति पर किया जाएगा ऐसे में माना जा रहा है कि संविलियन के लिए कोई संशय की स्थिति अब नहीं है। बस आदेश जारी होना ही शेष रह गया है। जनघोषणा पत्र के संयोजक और प्रदेश के स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री टी एस सिंहदेव ने भी ट्वीट लिखा था कि सभी बेरोजगार शिक्षाकर्मियों विद्या मितान प्रेरकों एवं अन्य युवाओं की पीड़ा से मैं बहुत दुखी हूं और शर्मिंदा हूं।

जनघोषणा पत्र के माध्यम से जो वायदा आपको किया था मैं उस पर अटल हूं। यही विश्वास दिला रहा हूं कि सरकार प्रयास कर रही है हम आपके साथ हैं और साथ रहेंगे। उन्होंने अपने बयान में कहा है कि इन वायदों को पूरा करने के लिए लगातार चर्चा हो रही है और सरकार के प्रयास चल रहे हैं मेरा आग्रह है भरोसा रखें। इसे जरूर यह कयास लगाया जा सकता है कि सरकार शिक्षाकर्मियों की मांगों के प्रति भी गंभीर है और उसके शीघ्र सकारात्मक परिणाम मिलेंगे। छत्तीसगढ़ टीचर्स एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष ऋषिदेव सिंह ने कहा है कि हमें पूरी उम्मीद है कि मुख्यमंत्री ने जो बजट भाषण में 2 वर्ष पूर्ण करने वाले समस्त शिक्षा कर्मियों को संविलियन करने का ऐलान किया था उस पर शीघ्र अमल होगा। इसी सकारात्मक भरोसे को ध्यान में रखकर आज संविलियन से वंचित शिक्षकों की मांगों को सकारात्मक तरीके से प्रदेश के मुखिया के सामने रखते हुए दीप प्रज्वलित करने का कार्यक्रम किया जा रहा है।

Mynews36 प्रतिनिधि राजीव गुप्ता की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *