रायपुर। गरियाबंद के पांडुका थाने में ठगी के आरोपी सुनील श्रीवास के थाने के अंदर फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिए जाने का मुद्दा उठाते हुए भाजपा ने सुनील के परिजनों को 25 लाख के मुआवजे की मांग की है।साथ ही,कहा है कि मामले की उच्च स्तरीय जांच भी की जानी चाहिए।पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा है कि-प्रदेश में हर जगह भय का वातावरण बन गया है।

बता दें कि-गरियाबंद के पांडुका थाने में ठगी के आरोपी सुनील श्रीवास (30 वर्ष) ने थाने के अंदर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।मामले में तुरंत थाने के टीआई समेत 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था।सात लाख रुपए की ठगी के मामले में पुलिस ने रायपुर के चंगोराभाठा निवासी आरोपी श्रीवास को सोमवार को गिरफ्तार किया था।वह जायका ऑटोमोबाइल अभनपुर में सेल्समैन के रूप में कार्य करता था।उसके परिजनों ने पुलिस पर मारपीट कर उसकी हत्या का आरोप लगाया है।

बताया जा रहा है कि आरोपी श्रीवास ने पुलिसकर्मियों ने शौचालय जाने की बात कही थी।एक पुलिसकर्मी उसे थाने के पास बने शौचालय तक लेकर गया और उसके बाहर आने का इंतजार करने लगे।जब वह बहुत देर तक बाहर नहीं निकला तो उसने दरवाजा तोड़ने की कोशिश की, इसके बाद वो बाथरूम की छत से अंदर जाने के लिए ऊपर चढ़े तब तक आरोपी अपनी शर्ट से फांसी लगा चुका था।

Summary
0 %
User Rating 4.2 ( 2 votes)