दुनिया का ऐसा रहस्यमय झील,जिसका पानी पत्थर में बदल देता है……जानिए विस्तार से…..

दुनिया में ऐसी कई खतरनाक झीलें हैं, जिनके रहस्य को आज तक कोई नहीं जान पाया है। कुछ इसी तरह का ही एक खतरनाक झील उत्तरी तंजानिया में है, जिसे नेट्रॉन झील के नाम से जाना जाता है।ऐसा माना जाता है कि इस झील के पानी को जो भी छूता है, वो पत्थर का बन जाता है। इस झील के आसपास कई पशु-पक्षियों की पत्थर की मूर्तियां मौजूद है। तो आइए जानते हैं इस झील के बारे में विस्तार से…

नेट्रॉन झील के दूरदराज तक कोई भी आबादी नहीं है।इस झील के आसपास पत्थर के जानवर और पक्षियों की मूर्तियां पड़ी हैं, जिसे देखकर झील के जादुई होने की बात सच भी लगती हैं। दरअसल, इन सब के पीछे वैज्ञानिक वजह भी है। बता दें कि नेट्रॉन एक अल्केलाइन झील है, जहां के पानी में सोडियम कार्बोनेट की मात्रा काफी ज्यादा है। पानी में अल्केलाइन की मात्रा और अमोनिया की मात्रा एक समान है। ये सबकुछ ठीक वैसा ही है, जैसा इजिप्ट में लोग ममी को सुरक्षित करने के लिए करते थे। यही कारण है कि यहां पंक्षियों के शरीर सालों सुरक्षित रहते हैं।

हालांकि, नेट्रॉन झील ही दुनिया में अकेला नहीं है, जिसमें खतरनाक रासयनिक तत्व पाए जाते हैं। अफ्रीकी देश कांगो की कीवू झील दुनिया के सबसे खतरनाक झीलों में से एक है। इसे ‘विस्फोटक झील’ के नाम से भी जाना जाता है। दरअसल, इसके पानी में कार्बन डाई-ऑक्साइड और मीथेन गैस मौजूद है। कहा जाता है कि इस झील के पास अगर हल्का सा भी भूकंप आ जाए तो झील में एक बड़ा विस्फोट हो जाएगा।

अमेरिका की सबसे बड़ी झीलों में से एक ‘लेक मिशिगन’ जितना खूबसूरत है, उतना ही खतरनाक भी। बताया जाता है कि इस झील के पास जानलेवा गैस का बादल छा गया था, जिसकी वजह से वहां मौजूद सारे जीव-जंतु मर गए थे। वैज्ञानिकों का मानना था कि झील के नीचे एक ज्वालामुखी है, जिसकी वजह से कार्बन डाई-ऑक्साइड गैस पानी में मिल गई होगी और गैस का स्तर बढ़ने से वह बादल में तब्दील हो गए होंगे।

उत्तरी अमेरिकी महाद्वीप के कैरेबियन क्षेत्र में स्थित एक देश है डोमिनिका, जहां एक उबलती हुई झील है। इस झील के पास जाना मौत को दावत देने के समान है। दरअसल, इसके पानी का तापमान 92 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है और इसकी वजह है इस झील के पास एक ज्वालामुखी का होना, जो पानी को हमेशा गर्म रखता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.