सफलता की कहानी : जे. तिरुपती ने होम आइसोलेशन में रहकर कोरोना से जीती जंग

कहा- भ्रामक खबरों से बनाए दूरी, सकारात्मक सोंच रखें

सुकमा – प्रदेश में जहाँ चारो ओर कोरोना की खबर से लोगो का मनोबल टूट रहा वहीं बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद सकारात्मक सोच, कोविड के नियमों का पालन और चिकित्सकों द्वारा लगातार दिए जा रहे सलाह का सही तरीके से अनुसरण करते हुए कोरोना से जंग जीत रहें हैं। शबरी नगर, सुकमा निवासी जे.तिरुपती कहते हैं कि चिकित्सकीय परामर्श के साथ सकारात्मक सोच और मजबूत इच्छाश्क्ति से कोरोना पर विजय पाना आसान है। होम आइसोलेशन में रहकर डॉक्टर की सलाह और अपने हौसले से श्री जे.तिरूपति ने कोविड से जंग जीत ली।

35 वर्षीय तिरूपति ने बताया कि उन्हें कुछ दिनों से बुखार, खांसी-सर्दी की शिकायत हो रही थी। उन्होंने तत्परता दिखाते हुए उन्होंने कोविड जांच कराई। जांच की रिपोर्ट आने तक वे ना तो घर से बाहर गए और घर के अन्य सदस्यों से भी उचित दूरी बना कर रखी। कोविड जाँच के दो दिन बाद उनकी रिर्पोट आई जिसमें वे कोरोना पाॅजिटिव पाए गए। संक्रमण गंभीर नहीं होने के कारण चिकित्सकों ने उन्हें होम आईसोलेशन में रहने की सलाह दी।

उन्होंने बताया कि उनकी धर्मपत्नी पूजा ने उनका मनोबल बढ़ाने में खूब सहयोग किया और प्रतिदिन प्रोत्साहित किया। बेहतर चिकित्सकीय देखभाल एवं परामर्श से आखिरकार उन्होंने कोरोना से जंग जीत ली। 14 दिन होम आईसोलेशन में रहते हुए उन्होंने चिकित्सकों द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का गंभीरता से पालन किया।

चिकित्सकों द्वारा फोन के माध्यम से नियमित उनकी सेहत की मानिटरिंग की गई। किसी प्रकार की परेशानी या असमंजस कि स्थिति में उन्होंने चिकित्सकों को मोबाईल से सम्पर्क कर सलाह ली। प्रतिदिन सुबह शाम वे अपने तापमान, ऑक्सीजन लेवल और पल्स की जानकारी चिकित्सकों से साझा करते रहे। इसके साथ ही उन्होंने प्रतिदिन सुबह शाम भाप लिया। आइसोलेशन के दौरान स्व-प्रोत्साहन के लिए उन्होंने सोशल मीडिया और कोविड के समाचारों से दूरी बनाते हुए सकारात्मक फिल्में देखी एवं संगीत सुना। 20 अप्रैल को पूर्णतः स्वस्थ होने पर उन्हें होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किया गया।

भ्रामक खबरों से बनाए दूरी

तिरूपति ने बताया कि सोशल मीडिया एवं टीवी पर कोविड संबंधी भ्रामक जानकारियां और नकारात्मक विचार बहुतायत में है, जिसके कारण डर का माहौल बन रहा है। इसके लिए जरूरी है कि उपचार के दौरान ऐसे खबरों से दूरी बनाकर स्वयं को साकारात्मक रखते हुए सेहतमंद रखें। कोविड-19 में ध्यान देने वाली बात यह है कि बीमारी से ठीक होने के बाद भी प्राथमिक तौर से मास्क का सही तरीके से इस्तेमाल, समय-समय पर सेनिटाईजर का उपयोग, सामाजिक दूरी के नियमों के साथ ही विशेष तौर से साफ सफाई का ध्यान रखना भी जरूरी है।

MyNews36 प्रतिनिधि ताराचंद जैन की रिपोर्ट

Leave A Reply

Your email address will not be published.