रायपुर-बेटी को प्राइमरी स्कूल में पढ़ाने औऱ उसके साथ मिड डे मील खाने को लेकर सुर्खियों में आये प्रदेश के IAS अधिकारी अवनीश कुमार शरण ने फेसबुक पर अपनी मार्कशीट साझा की और लिखा कि परीक्षा में नंबर कम आना या फिर फेल हो जाना यह आपकी काबिलियत को नही बताता।यह महज एक नंबर गेम है,आपके अंदर छिपी काबिलियत आपको आगे कई बेहतरीन मौके देती है।10 मई को परीक्षा परिणाम आने और 11 मई को एक छात्र के आत्महत्या की खबर पढ़कर उन्होंने फेसबुक पर लिखा, “आज मैंने अखबार में एक चौंकाने वाली खबर पढ़ी कि एक छात्र ने परीक्षा में फेल हो जाने के कारण आत्महत्या कर ली। मैं सभी छात्रों और उनके माता पिता से अपील करता हूँ कि वे परिणाम को गम्भीरता से न लें।यह एक नंम्बर गेम है।आपको अपने काबिलियत को साबित करने के कई और मौके मिलेंगे।

छात्रों को मोटिवेट करने के उद्देश्य से IAS अफसर ने बोर्ड परीक्षाओं और कॉलेज के नंबर फेसबुक पर शेयर किए

उन्होंने कक्षा 10वीं में 44.5 फीसदी, 12वीं की परीक्षा में 65% और स्नातक में 60.7% नंबर हासिल किए थे।अफसर ने संदेश में बताया कि उन्होंने 10वीं की परीक्षा 1996 में, 12वीं की परीक्षा 1998 और स्नातक की डिग्री साल 2002 में पूरी की थी।भले ही उनके नंबर कम आए लेकिन उन्होंने यूपीएससी परीक्षा पास कर दिखा दिया कि काबिलियत नंबर देखकर नहीं मापी जा सकती। IAS अवनीश शरण का जीवन संघर्षों से भरा रहा है वो कहते हैं कि हमें एक जिंदगी मिलती है और जितना हो सके अच्छे काम करते रहने चाहिए।

Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

World yoga day :राजधानी में योग दिवस पर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की तैयारी जोरो पर

रायपुर। विश्व योग दिवस को लेकर प्रदेश में तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।वही इनडोर स्टेडियम ब…