छत्तीसगढ़ बड़ी खबर शहर और राज्य शिक्षा

पढ़ना-लिखना अभियान के लक्ष्य को पूरा करने जिलों में बनेगी विशेष रणनीति,दीपावली के बाद होगा सर्वे कार्य

रायपुर- प्रदेश में पढ़ना-लिखना अभियान के लक्ष्य को पूरा करने के लिए जिलों में कलेक्टर के निर्देशन में विशेष रणनीति बनाई जाएगी। इसके लिए सर्वे का कार्य होगा। राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण एवं एस.सी.ई.आर.टी. के संचालक डी. राहुल वेंकट ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों, जिला परियोजना अधिकारियों और डाइट के प्राचार्यो को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से दीपावली के बाद सर्वे का कार्य प्रारंभ करने और सर्वे दल का गठन शीघ्र करने के निर्देश दिए।

राहुल वेंकट ने कहा कि कोरोना के कारण लक्ष्य को पूरा करने के लिए समय कम है। इसलिए जिले को दिए गए लक्ष्य के अनुसार ग्राम पंचायत, नगरीय निकाय के वार्डों का चिन्हांकन दीपावली के पूर्व ही कर लिया जाए। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में स्वयंसेवी शिक्षकों के माध्यम से अध्यापन कराया जाना है अतः उनका भी चिन्हांकन कर लिया जाए। जिलों की परिस्थिति के अनुसार पूरे जिले अथवा जिस विकासखण्ड को इस प्रारंभिक योजना में शामिल कर रहे हैं उस ग्राम पंचायत और नगर के वार्ड के लिए सर्वे दल का गठन कर लिया जाए। कार्यक्रम में स्वयंसेवी संस्थाएं की भी विशेष भूमिका होगी।

राहुल वेंकट ने कहा कि अभियान में राष्ट्रीय सेवा योजना, एनसीसी और नेहरू युवक केंद्र के अलावा महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं, सेवानिवृत्त कर्मियो, स्थानीय स्तर पर सेवाभावी व्यक्तियों और शिक्षकों की विशेष भूमिका होगी। ग्रामीण क्षेत्र में कार्यरत मैदानी अमले को लक्ष्य अनुसार इस कार्यक्रम से जोड़ने का प्रयास भी किया जाए।

बैठक के प्रारंभ में पढ़ना लिखना अभियान के नोडल अधिकारी प्रशांत कुमार पांडेय ने बताया कि जिला साक्षरता मिशन का गठन कलेक्टर की अध्यक्षता में किया जाना है। पंजीयन की कार्यवाही बाद में की जाएगी। इसी प्रकार डाइट में जिला साक्षरता केंद्र स्थापित किया जाएगा। विकासखण्ड, नगरीय निकाय के अलावा ग्राम पंचायत और नगर के वार्डों में भी समिति का गठन किया जाएगा। सर्वे का कार्य प्रदेश में एक निश्चित अवधि में पूरा किया जाना है। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में कलेक्टर की अध्यक्षता में बैठक आहूत हो चुकी है, अन्य जिलों में भी बैठक कर ली जाए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सहायक संचालक दिनेश कुमार टाक सहित प्रदेश के सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारी, डाइट के प्राचार्य, साक्षरता मिशन के जिला परियोजना अधिकारी के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *