छत्तीसगढ़ में अब तक 1.81 लाख स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगाए जा चुके हैं कोरोना के टीके

छत्तीसगढ़ में अब तक (8 फरवरी तक) एक लाख 81 हजार स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीके लगाए जा चुके हैं। प्रदेश में 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण अभियान के तहत टीका लगाने के लिए अब तक 3984 सत्रों का आयोजन किया गया है। प्रदेश के सभी जिलों में 8 फरवरी को कुल 575 टीकाकरण सत्रों में 15 हजार 792 स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके लगाए गए। इनमें 13 हजार 183 स्वास्थ्य कर्मी और 2609 फ्रंटलाइन कोरोना वर्कर्स शामिल हैं।

रायपुर जिले में अब तक सर्वाधिक 18 हजार 954 स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके लगाए जा चुके हैं। बिलासपुर में 13 हजार 588, रायगढ़ में 12 हजार 723, दुर्ग में 12 हजार 389 और राजनांदगांव में 11 हजार 845 लोगों को टीके लगाए गए हैं। वहीं कोरबा में 8400, जांजगीर-चांपा में 8000, जशपुर में 7263, बलौदाबाजार-भाटापारा में 7217, महासमुंद में 6780, सरगुजा में 6699, बस्तर में 6643, बालोद में 6499, कांकेर में 6289, सूरजपुर में 6113 तथा कबीरधाम में 5435 स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके लगाए जा चुके हैं।

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बेमेतरा में 4660, धमतरी में 4517, गरियाबंद में 4200, बलरामपुर-रामानुजगंज में 3838, कोंडागांव में 3642, कोरिया में 3544, मुंगेली में 2917, दंतेवाड़ा में 2492, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में 2009, सुकमा में 1869, बीजापुर में 1511 एवं नारायणपुर जिले में 944 हेल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण किया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.