Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

शपथ ग्रहण समारोह में स्मृति ईरानी पर रहेंगी सबकी निगाहें,कैबिनेट में मिलेगी बड़ी जिम्मेदारी

Smriti Irani

नई दिल्ली- आज शाम को होने जा रहे नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में इस बार सबकी नजरें स्मृति ईरानी पर लगी रहेंगी।लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने अमेठी सीट पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हराया है।माना जा रहा है कि-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मंत्रिमंडल में स्मृति ईरानी को बड़े मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंप सकते हैं।खास बात है कि-मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण समारोह में स्मृति ईरानी जब शपथ लेंगी तो उनके सामने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी बैठे होंगे।

बता दें कि भाजपा खेमें में स्मृति ईरानी की जीत को खास तव्वजो दी जा रही है।ईरानी ने 2014 में भी राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था,लेकिन वह हार गई थी।उसके बाद उन्होंने अमेठी की जनता से लगातार संपर्क साधे रखा।अमेठी की जीत के लिए उन्होंने बहुत पहले से ही अपने लक्ष्य निर्धारित कर लिए थे।कांग्रेस पार्टी को एग्जिट पोल आने के दिन तक यह आभास नहीं था कि-स्मृति ईरानी अमेठी से जीत भी सकती हैं।

हालांकि इस बार कांग्रेस पार्टी को यह अहसास तो था कि-राहुल गांधी की जीत का अंतर कम रहेगा,लेकिन उसे सीट छिन जाने की उम्मीद कतई नहीं थी।दूसरी ओर चुनाव प्रचार के दौरान स्मृति ईरानी साफ तौर पर यह कहती हुई नजर आई कि-इस बार अमेठी की जनता ने कुछ खास तय कर रखा है।नतीजों के दिन आपको पता चल जाएगा।

मंत्रालय मिले,फिर वापस लिए गए,इस बार बढ़ेगा कद

स्मृति ईरानी को 2014 में अमेठी सीट हारने के बावजूद मंत्री पद दिया गया था।वे करीब दो साल तक मानव संसाधन एवं विकास मंत्री रही।एक विवाद के चलते उन्हें दो साल से पहले ही इस मंत्रालय से हटा दिया गया।इसके बाद उन्हें कम अहमियत वाला टेक्सटाइल मंत्रालय दे दिया गया। उन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भी सौंपा गया,लेकिन यहां पर भी वे फेक न्यूज को लेकर दिए अपने एक आदेश के चलते विवादों में घिर गई। पीएम मोदी ने उन्हें इस मंत्रालय से हटा दिया था।माना जा रहा है कि इस बार उन्हें कैबिनेट में अहम मंत्रालय सौंपा जाएगा।

नतीजे आने के बाद से लगातार चर्चा में स्मृति ईरानी

चुनाव परिणाम आने के पांच दिन बाद ही उन्होंने अमेठी के लोगों की एक पुरानी मांग पूरी कर दी।उप्र कैबिनेट द्वारा अमेठी के डिग्री कॉलेजों को अब राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय से सम्बद्ध किया जाएगा।चुनाव प्रचार के दौरान अमेठी के लोगों ने स्मृति ईरानी के समक्ष यह मांग रखी थी।

चुनावी नतीजे आने के बाद अमेठी में भाजपा से जुड़े और स्मृति ईरानी के करीबी एक पूर्व ग्राम प्रधान की हत्या कर दी गई।हत्या से स्तब्ध स्मृति ईरानी पूर्व ग्राम प्रधान के घर पहुंचीं और परिजनों को ढाढस बंधाया।साथ ही उन्होंने मृतक सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा भी दिया।प्रार्थी को कंधा देने की उनकी एक तस्वीर सोशल मीडिया में जबरदस्त तरीके से वायरल हुई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.