sleep

माता-पिता के लिए बच्चों को वक्त पर सुलाना सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। अगर आपको अपने बच्चों को सुलाने में दिक्कत हो रही है तो जर्नल साइंटिफिक रिसर्च में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन में इसका जवाब दिया गया है।

माता-पिता के लिए बच्चों को वक्त पर सुलाना सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। विभिन्न शोधों के अनुमान के मुताबिक आपको बच्चों (स्कूल जाने वाली उम्र से पहले)को प्रतिदिन 10 से 13 घंटे की नींद की जरूरत है और यह समय आपके बच्चे के बढ़ने के साथ बदलना शुरू होता है। छह से 13 साल तक के बच्चों के लिए दिन में नौ घंटे की नींद को पर्याप्त माना जाता है। अगर आपको अपने बच्चों को सुलाने में दिक्कत हो रही है तो जर्नल साइंटिफिक रिसर्च में प्रकाशित एक हालिया अध्ययन में कहा गया है कि अगर आपके बच्चे दिन में विभिन्न गतिविधियों में शामिल रहते हैं तो उनकी नींद की गुणवत्ता बेहतर होती है।

sleep

अध्ययन के मुताबिक वे बच्चे को दिने में कोई न कोई एक्सरसाइज करते रहते हैं वह अपने रूटिन टाइम के मुकाबले 18 मिनट पहले सोते हैं। एक्सरसाइज आपके बच्चों को जल्दी नींद दिलाने का तरीका है, ठीक इसी तरह हम आपके साथ पांच ऐसे टिप्स साझा करने जा रहे हैं, जिसके जरिए आप अपने बच्चों की नींद को बेहतर बना सकते हैं।

प्राकृतिक रोशनी में खेलने दें-

अपने बच्चों को दिन में बाहर जाकर खेलने के लिए प्रोत्साहित करें और ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक रोशनी में रहने को कहें। प्राकृतिक रोशनी के संपर्क में आने से मेलाटोनिन नाम का हार्मोन रिलीज होता है, जो स्लीप-वेक साइकल को नियंत्रित करता है। यह आपके बच्चों को दिन में जगाए रखने और रात में सोने में मदद करता है।

कैफीन वाले पेय पदार्थ से दूर रखें-

चाय, कॉफी और सोडा जैसे कैफीन युक्त पेय पदार्थ आपके बच्चों के लिए सोने को एक मुश्किल काम बनाते हैं। इसलिए आप उन्हें शाम के वक्त इस तरह के पेय पदार्थों से दूर रखें, जिससे उन्हें शाम के वक्त सोने में आसानी होगी।

sleep

सोने का एक निश्चित समय तय करें-

सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा नियमति रूप से एक सही समय पर सोएं और सही समय से जागे। यह आपके बच्चों के भीतर एक स्वस्थ आदत का संचार करेंगे और आपके बच्चों के बॉडी क्लॉक को उसके मुताबिक ढालेंगे।

सुनिश्चित करें कि वे सुरक्षित महसूस करें-

दोपहर बाद बच्चों को डरावनी कहानियां सुनाने और भूतों की फिल्में दिखाने से बचें। अगर वे अंधेरे कमरे में सोने से डर रहे हैं तो आप उनके लिए नाइट लैंप जला सकते हैं, जिससे उन्हें सोने में आसानी होगी।

उन्हें स्वस्थ आहार दें-

शुगर और फैट युक्त फूड आपके बच्चों के नींद चक्र को बाधित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसके साथ ही आप ये भी ध्यान रखें कि आपका बच्चा ज्यादा पानी पीकर भी बिस्तर पर न जाए, इससे उसे बीच रात जागने की ललक जग सकती है, जिससे उसकी नींद खराब होगी

Summary
0
User Rating 0 Be the first one !
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In आर्टिकल्स

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

World university ranking-2020 :भारत के इन कॉलेजों को मिली रैंकिंग,देखें सूची

ख़ास बाते क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग-2020 लंदन में आज होगी जारी,भारत के 23 संस्थानों…