रायपुर।अपराध अनुसंधान को बेहतर बनाने चिन्हित अपराध योजना शुरू की गई है।राज्य के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने शनिवार को बताया कि महिलाओं,बच्चों एवं कमजोर वर्गों के विरूद्ध घटित हो रहे अपराध के अनुसंधान की गुणवत्ता में सुधार लाते हुए अपराधी की शीघ्रता से दोषसिद्धि सुनिश्चित करने के उददेश्य से चिन्हित अपराध योजना प्रारंभ की गई है।अपराध अनुसंधान के अलावा इस योजना का केन्द्र पीड़ित/पीड़िता के प्रति संवेदना रखते हुए उसे शीघ्र-अतिशीघ्र न्याय दिलाना है।

पुलिस अधीक्षकों को सख्त निर्देश

उन्होने बताया कि इसके तहत जिले में प्राथमिकता के तौर पर महिलाओं,बच्चों एवं कमजोर वर्गों के विरूद्ध घटित अतिसंवेदनशील एवं गंभीर प्रकृति के लैंगिक अपराधों को चयनित कर प्रथम सूचना रिपोर्ट(एफआईआर)दर्ज होने से लेकर न्यायालयीन निर्णय तक न्यूनतम समयावधि में संबंधित पुलिस अधीक्षक की मॉनिटरिंग में विवेचना कार्यवाही पूर्ण की जा रही है।अवस्थी ने बताया कि इस योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए सभी पुलिस अधीक्षकों को सख्त निर्देश दिए गए हैं और इनके द्वारा प्रत्येक माह में योजना के क्रियान्वयन की सतत रूप से जिला स्तरीय समीक्षा की जा रही है।चिन्हित अपराधों में से महिला विरूद्ध घटित अपराधों की मॉनिटरिंग प्रतिदिन पुलिस मुख्यालय स्तर पर भी महिला विरूद्ध अपराध सेल तथा अजाक शाखा द्वारा की जा रही है।

Summary
0 %
User Rating 3.8 ( 3 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

INC: इन 10 बड़ी वजहों के कारण कांग्रेस को करना पड़ा हार का सामना

रायपुर- देश में नई लोकसभा के लिए मतों की गिनती जारी है।अभी तक जो रुझान सामने आए हैं,वे इशा…