बैंक में 5 लाख रुपये से ज्यादा रखना चाहिए या नहीं ? जान लीजिए ये जरूरी बात…….

ऐसा कहते आपने किसी न किसी को तो सुना ही होगा कि बैंक में ज्यादा पैसे नहीं रखने चाहिए,लेकिन आप उनसे उसका कारण पूछ लें तो यकीनन वो नहीं बता पाएंगे।दरअसल,लोगों में बैंक और पैसों को लेकर कई तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं।कुछ लोग तो ये भी कहते हैं कि बैंक में पांच लाख रुपये से ज्यादा जमा करके नहीं रखना चाहिए,जबकि ऐसा कोई नियम है ही नहीं।आप जितना मर्जी चाहे उतना अपने बैंक अकाउंट में पैसा रख सकते हैं।बैंक के डूबने या दिवालिया होने की स्थिति में नियम कहता है कि सरकार आपको पांच लाख रुपये देगी,यानी बैंक में पांच लाख रुपये तक की सुरक्षा की गारंटी रहती है।अगर आपके बैंक अकाउंट में पांच लाख रुपये जमा हैं और संबंधित बैंक दिवालिया होता है तो आपके पांच लाख रुपये पूरी तरह सुरक्षित रहेंगे।शायद इस वजह से लोग सोचते होंगे कि बैंक में पांच लाख रुपये से ज्यादा नहीं रखने चाहिए। 

हालांकि बैंक में ज्यादा पैसे रखने के कुछ नुकसान भी होते हैं।पहला तो ये कि अकाउंट में अधिक पैसों की वजह से आप इनकम टैक्स की नजर में आ सकते हैं।लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है।आपके पैसों पर इनकम टैक्स का नोटिस तभी आएगा,जब उन पैसों का कोई सोर्स पता न हो।इसलिए आपको बैंक में जमा अपने पैसों की पूरी डिटेल रखनी होगी कि पैसा कहां से आया,आपके अकाउंट में कैसे जमा हुआ। 

अगर आपके बैंक अकाउंट में अधिक पैसा हो और आप इनकम टैक्स के सामने उन पैसों के सोर्स को साबित नहीं कर पाए तो फिर मुश्किलें पैदा हो सकती हैं। आपके बैंक अकाउंट सो सीज किया जा सकता है,आप पर कार्रवाई हो सकती है। 

सेविंग अकाउंट में ज्यादा पैसा रखने का एक नुकसान ये भी है कि जमा राशि पर ब्याज कम मिलता है।ऐसे में बैंक में ज्यादा पैसे जमा करने का कोई फायदा नहीं है।जानकार कहते हैं कि बेहतर होगा आप उन पैसों को फिक्स डिपॉजिट कर दें या म्यूचुअल फंड में लगा दें।इस पर ब्याज ज्यादा मिलेगा,यानी आपको ज्यादा फायदा होगा।इसलिए बैंक में ज्यादा पैसा रखने से पहले एक बार अच्छी तरह सोच विचार लें,कहीं नुकसान न हो जाए। 

Leave A Reply

Your email address will not be published.