रायपुर- शिवसेना जिलाध्य्क्ष शशांक देशमुख के नेतृत्व मे उमेश पटेल जी को ज्ञापन सौपा गया।शिवसेना जिलासचिव प्रफुल्ल साहू ने बताया कि- अवगत होवे राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रामक बीमारी को ध्यान में रखते हुए महाविद्यालयो में अध्ययनरत प्रथम व द्वितीय वर्ष के छात्रों की परीक्षा के संबंध में गाइडलाइन जारी किया गया है।राज्य सरकार द्वारा छात्रहित में जो आदेश जारी किया गया है शिवसेना उसका सम्मान करती है। एवं आशा करती है कि सरकार छात्रों का भविष्य को ध्यान में रखते हुए आगे भी उचित निर्णय लेगी।

किन्तु शासन द्वारा जारी गाइडलाइन के कुछ विषयो को लेकर छात्र असमंजस की स्थिति में है।राज्य के अधिकतम विश्विद्यालयों के छात्र प्राइवेट पद्धति के माध्यम से अध्ययन करते है जिनकी संख्या लाखो में है जो गरीब परिवार से है साथ ही छोटा मोटा रोजगार कर अपने परिवार का भरण पोषण करते है। इन प्राइवेट छात्रों को जारी गाइडलाइन का फायदा नही मिल रहा है।

शासन द्वारा सिर्फ 08 विश्विद्यालय को इस गाइडलाइन में नामांकित किया गया है जबकि राज्य के समस्त प्राइवेट विश्विद्यालयो को भी इस योजना में शामिल किया जाये जिससे वहाँ अध्ययनरत छात्रों को भी गाइडलाइन के नियमो का फायदा मिल सके।
शासन द्वारा जारी गाइडलाइन अनुसार अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए परीक्षा आयोजित होगी जो स्वागत योग्य है किन्तु नया सत्र भी जुलाई से शुरू होता है ऐसे में अंतिम वर्ष की परीक्षा आयोजित होगी फिर रिजल्ट जारी होंगे उसमे तीन से चार माह का समय लग जायेगा । तथा जो छात्र जो अंतिम वर्ष में अध्यनरत होगा वो आगे की पढ़ाई जैसे M.Com., LLB या अन्य विषयों में प्रवेश लेना चाहता है वो समय पर रिजल्ट न मिलने और नए सत्र में प्रवेश की तिथि समाप्त होने से उसका एक साल बर्बाद हो जायेगा उक्त मांगो पर विचार कर राज्य के समस्त छात्रों के हित को ध्यान में रखते हुए उचित निर्णय लेने की मांग किया गया जिससे छात्रों का भविष्य उज्ज्वल हो सकें।

इस ज्ञापन मे मुख्य रूप से शशांक देशमुख, प्रफुल्ल साहू, गिरीश सोनी, प्रशांत शर्मा, नेहा तिवारी, संतोष मारकण्डे, ज्योति द्विवेदी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.