Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

sharaab dukaan:शराब दुकान बंद कराने के लिए सड़क पर उतरे स्कूली बच्चे

0
sharaab dukaan

रायपुर। राजधानी में शराबबंदी के खिलाफ लोगों का गुस्सा सड़क पर उतरने लगा है। शहर से लगे काठाडीह में आठ दिन पहले खोली गई शराब दुकान के विरोध में मंगलवार को स्कूली छात्रों सहित महिलाएं सड़क पर उतर आईं। जानकारी के मुताबिक पहले यह शराब दुकान शहर के गोकुल नगर मठपुरैना में चल रही थी। यहां भी लगातार रहवासियों का विरोध चल रहा था।

गोकुल नगर के शराब दुकान से महज 50 फीट के दूरी में ही सरकारी स्कूल चल रहा था। यहां से शिकायत के बाद इस शराब दुकान को आबकारी विभाग ने काठाडीह मुख्य सड़क मार्ग पर शिफ्ट कर दिया है। अब यहां भी इसके विरोध में गांव की बहू-बेटियां सड़क पर उतर आईं हैं।

शराब दुकान बंद करने की मांग को लेकर यहां स्थित सरकारी और निजी स्कूल की छात्राएं कलेक्ट्रेट पहुंचकर शराब दुकान बंद करने की मांग की।छात्राओं ने कहा कि यहां जबसे शराब दुकान खुली है आने-जाने वाले लोग अश्लील कमेंट करते हैं।महिलाओं ने भी छेड़खानी करने की शिकायत की। कलेक्ट्रेट पहुंचकर इस दुकान को जल्द से जल्द बंद करने की मांग को लेकर छात्राओं और महिलाओं ने खूब नारेबाजी की। इस दौरान जिला प्रशासन और आबकारी अफसरों के बीच महिलाओं से तीखी नोंकझोक भी हुई।

पालकों ने कहा-स्कूल नहीं जा पा रहीं हैं बच्चियां

छात्राओं के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे पालकों ने बताया कि स्कूल आने-जाने के दौरान यहां चारों तरफ से शराब खरीदने आ रहे लोग बच्चियों पर अश्लील कमेंट करते हैं। इसके डर से बच्चियां स्कूल नहीं जा पा रही हैं।बतादें कि शराब दुकान बंद करने के विरोध में छात्राएं पहले भी धरना प्रदर्शन कर चुका हैं।

गोकुल नगर में लगातार विरोध के कारण आबकारी मंत्री के आदेश पर ही प्रशासन ने दुकान को काठाडीह नाले के पास शिफ्ट कराया है। पालकों ने कहा कि यह शराब दुकान मुख्य मार्ग में ही होने के कारण रोजमर्रा की चीजें खरीदने जाने पर भी लोगों को असहजता महसूस हो रही है। दुकान को तत्काल बंद कराने की मांग की।

छात्राएं जिद पर अड़ीं तो कलेक्टर ने एसडीएम को दिए जांच के आदेश

इधर, छात्राओं ने अफसरों के सामने जिद पकड़ ली कि जब तक शराब दुकानें बंद नहीं होगी तब तक वे घर नहीं जाएंगी।दोपहर करीब 12 बजे छात्राएं व महिलाएं कलेक्ट्रेट पहुंची थी उस समय कलेक्टर मंगलवार की समीक्षा बैठक ले रहे थे। उन्हें यह जानकारी भीतर जाकर अधिकारियों ने दी, तब उन्होंने अपने प्रतिनिधि को भेजकर तत्काल एसडीएम को जांच के लिए निर्देश दिया। छात्राओं ने अफसरों को बताया कि जिस दिन से यहां दुकान खुली है यहां शराबी और असामाजिक तत्वों का जमावड़ा हो गया है। रोज यहां शराबी नशे में गाली-गलौच करते हुए दिखते हैं।महिलाओं ने शिकायत की उनके साथ भी छेड़खानी की नौबत आ गई है। लोगों का जीना मुश्किल हो गया है।

कॉलोनी से हटाया और गरीबों की बस्ती में खोल दी दुकान

रहवासियों ने आरोप लगाया कि इसके पहले यह दुकान कॉलोनी में चल रही थी, अब यहां बीएसयूपी मकानों में रहने वाले गरीबों के घर के पास दुकान खुलने के कारण गरीबों की बहू-बेटियों की इज्जत खतरे में आ गई है।गौरतलब है कि गोकुलनगर से छात्राओं के विरोध के चलते 8 दिन पहले ही इस दुकान को काठाडीह शिफ्ट किया गया था।

मंत्री ने कहा था,स्कूल के नजदीक से हटाओ शराब की दुकानें

बता दें कि 29 जून को कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी, जल संसाधन मंत्री और रायपुर जिले के प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे ने अधिकारियों को निर्देश दिया था कि स्कूलों के पास शराब की दुकानें नहीं चलनी चाहिए। यदि कहीं दुकानें चल रहीं हैं तो उनको तत्काल हटाया जाए। बतादें कि शहर में 71 शराब दुकानें संचालित हैं।

जांच के दिए निर्देश

महिलाओं और छात्राओं की शिकायत के आधार पर एसडीएम को जांच के लिए निर्देश दिया गया हैं। जांच रिपोर्ट के आधार पर शराब दुकान पर कार्रवाई होगी। – डॉ. एस भारतीदासन, कलेक्टर, रायपुर

Add By MyNews36

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.