यूं तो दुनियाभर में फिर से साामाजिक जीवन पटरी पर लौट रहा है लेकिन कोरोना से निपटने और इसे फैलने से रोकने की कोशिश अभी भी जारी है। जैसा कि आप जानते हैं कि इस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए स्कूल-कॉलेज अभी भी बंद हैं, जिसके कारण दुनिया भर में लाखों विद्यार्थी घर से ही ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं। हालांकि भारत में स्वैच्छिक आधार पर स्कूल-कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को खोलने की बातचीत चल रही है लेकिन ऑनलाइन शिक्षा काफी समय तक शिक्षा का प्राथमिक साधन बने रहने के लिए बाध्य है, कम से कम कुछ देशों में।

इन सबके बीच माता-पिता अपने बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए हर संभव चीज मुहैया करा रहे हैं लेकिन इन सबसे उनके स्क्रीन समय में भारी वृद्धि हुई है और इससे निपटने के लिए उनके रूटीन में बदलाव आसान नहीं है।अगर आपका बच्चा भी ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान हिचिकचाता है या उसे पढ़ने का मन नहीं करता तो इस लेख के माध्यम से हम ऐसे पांच तरीकों के बारे में बता रहे हैं, जो आपके बच्चों को उनकी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं कौन से हैं ये तरीके।

1. ऑनलाइन क्लास के दौरान मन भटकाने वाले ऐप्स पर ध्यान न दें

ऑनलाइन सीखने के माध्यम के रूप में, माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बच्चे ऑनलाइन क्लास लेते समय मैसेजिंग प्लेटफॉर्म या गेम नहीं खेल रहे हैं।वर्चुअल क्लास लेने पर सामान्य से अधिक ध्यान देने की आवश्यकता हो सकती है, इसलिए, लैपटॉप से ध्यान भटकाने वाले ऐप्स को उनके आस-पास न फटकने दें।इसके अलावा क्लास के दौरान अपने स्मार्टफ़ोन को अलग रखना भी एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

2. ऑनलाइन क्लास के लिए एक अलग स्थान बनाएं

आपका बच्चा एक लैपटॉप के सामने कई घंटे बिताएगा, इसलिए उसी के लिए एक निश्चित स्थान सुनिश्चित करना सबसे अच्छा है। सुनिश्चित करें कि वो जगह शांत, आरामदायक और कोई भी यूं ही उसके कमरे में आसानी से आ-जा न सके। आपके बच्चे द्वारा उपयोग की जाने वाली मेज और कुर्सी भी लंबे समय तक बैठने के लिए आरामदायक होनी चाहिए। इससे उसका ध्यान इधर-उधर नहीं जाएगा और वह आराम से अपनी क्लास ले सकेगा।

3. तकनीकी खराबी की जांच करें

इंटरनेट कनेक्टिविटी की समस्या से लेकर खराब ऑडियो तक, बहुत सारी तकनीकी गड़बड़ियां हो सकती हैं, जो आपके बच्चे के सीखने के अनुभव को बाधित कर सकती हैं।पहले से ही इन समस्या को हल कर लेना सुनिश्चित करें क्योंकि पढ़ाई के दौरान ऐसा होने पर आपके बच्चे का ध्यान भंग हो सकता है और उसकी एकाग्रता भंग हो सकती है।

4. उनकी प्रगति की निगरानी करें

आपका बच्चा अपनी कक्षा में क्या सीख रहा है, इस बारे में लगातार सवाल पूछें। अपने अवकाश के समय में कुछ समय निकालकर साथ बैठकर चर्चा करें कि वह आज क्या पढ़ रहा है। लेक्चर के दौरान आपके बच्चे के सामने आने वाली चुनौतियों या मुद्दों पर चर्चा करें। इस प्रकार आपको ये जानने में मदद मिलेगी कि आपका बच्चा क्या सीख रहा है।

5. स्क्रीन टाइम की बात करें

जाहिर है, बाहरी गतिविधियों की अनुपस्थिति में, आपके बच्चों को अपने स्मार्टफ़ोन या गेमिंग सत्र के लिए वापस जाने के लिए लुभाया जा सकता है जैसे ही उनका होमवर्क समाप्त हो जाता है। अपने बच्चे के साथ उनके स्वास्थ्य पर अत्यधिक स्क्रीन समय के प्रभाव के बारे में दिल से दिल की बातचीत करना महत्वपूर्ण है। पुस्तकों को पढ़ने की आदत विकसित करने के लिए अपने बच्चे को धीरे से नंगा करें, यह बहुत आगे बढ़ जाएगा।

कितना जरूरी है ये सब

सभी माता-पिता ये याद रखें कि निश्चित रूप से यह सही पेरेंटिंग या एक बार में सब कुछ प्राप्त करने के लिए ठीक करने का समय नहीं है। अपने बच्चों को अपनी गति से चीजें सीखने दें और उन्हें आगे बढ़ने से पहले, ऑनलाइन पाठों को संसाधित करने के लिए पर्याप्त समय दें। हम सभी बहुत तनावपूर्ण समय से गुजर रहे हैं, क्योंकि महामारी विश्व स्तर पर जारी है। कोई विशेष समयरेखा नहीं है जब चीजें उस तरह से वापस चली जाएंगी जैसे वे हुआ करते थे। इसलिए, नए सामान्य के साथ रहने के लिए, कम से कम समय के लिए और हमारे बच्चों को उसी के लिए बांटना महत्वपूर्ण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

Director & CEO - MANISH KUMAR SAHU , Mobile Number- 9111780001, Chief Editor- PARAMJEET SINGH NETAM, Mobile Number- 7415873787, Office Address- Chopra Colony, Mahaveer Nagar Raipur (C.G)PIN Code- 492001, Email- wmynews36@gmail.com & manishsahunews36@gmail.com