वन विभाग ने जांच कर मामले को राजस्व को कार्यवाही हेतु सौपा

घुमका/MyNews36 प्रतिनिधि – ग्राम पंचायत मुड़पार में ग्राम के सरपंच गैन्दू पटेल द्वारा विगत दिनों वन विभाग द्वारा ऑक्सीजोन के तहत लगाए गए हरे भरे 20 से 25 पेड़ों की बिना किसी परमिशन व पंचायत प्रस्ताव के अवैध रूप से कटवा कर लकड़ी तस्करों को बेचे जाने के मामले को लेकर राजस्व विभाग की अनदेखी व लापरवाही के चलते कोई भी कार्रवाई अब तक नहीं हो पाई है।जबकि वन विभाग ने पूरे मामले की जांच कर चूंकि मामला राजस्व का होने के चलते कार्यवाही को लेकर प्रतिवेदन बनाकर लगभग माह भर पहले सौप दिया है किंतु राजस्व के अधिकारियों द्वारा अब तक कोई कार्यवाही नही किया जाना मामले में और कई संदेहो को जन्म देता है।

ज्ञात हो कि-माह भर पूर्व ग्राम के सरपंच गैन्दू पटेल द्वारा बिना किसी परमिशन व विभाग को सूचित किए अवैध तरीके से 20 से 25 पेड़ों को काटकर लकड़ी तस्करों को बेच दिया था जिसकी ग्रामीणों द्वारा शिकायत पर राजस्व विभाग द्वारा आनन-फानन में किसी पटवारी को बेचकर मौके पर पंचनामा भर बनाया गया था उसके बाद से मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। उधर ग्राम पंचायत सचिव का कहना है की हमने एसडीएम साहब से इस बाबत चर्चा की थी किंतु उन्होंने पेड़ कटाई के लिए कोई भी परमिशन नहीं दी थी,उसके बाद भी इस तरह सरपंच द्वारा मनमानी करते हुए बिना किसी परमिशन के अवैध तरीके पेड़ों की कटाई की गई। इस तरह से अवैध रूप से लकड़ी परिवहन व बेतहाशा कटाई के चलते ग्राम मुड़पार के ही एक ग्रामीण नोहर साहू की गर्भवती गाय जो मौके पर चरने गई थी।उसकी मौत भी लापारवाही के चलते काटे गए पेड़ की निचे दबकर हो चुकी है शिकायत व अखबार में खबर प्रकाशन के बाद वन विभाग के अधिकारियों द्वारा मामले की जांच शुरू कर प्रतिवेदन बनाकर राजस्व विभाग के अधिकारियों को कार्यवाही हेतु सौंपा है।

उसके बाद भी पूरा महीना बीतने को है अब तक उक्त सरपंच खिलाफ कोई भी कार्रवाई अब तक नहीं की गई है इस पूरे मामले को लेकर इस तरह से सरपंच मनमानी व शिकायत के बाद भी कोई कार्यवाही ना होने को लेकर ग्रामीणों में सख्त रोष व्याप्त है एवं विभाग के अधिकारी जवाब भी गोल मोल दे रहे है और इतने व्यस्त हैं की माह बीत जाने के बाद भी कार्यवाही शुन्य है।

हमने पूरे मामले की जांच करके कार्यवाही हेतु राजस्व विभाग को प्रतिवेदन बनाकर कब से दे दिया है -आर के जैन,डिप्टी रेंजर,वन विभाग राजनांदगांव

हमारे पास कोई भी जांच एव कार्यवाही हेतु वन विभाग का प्रतिवेदन नहीं मिला है- रमेश मोर,तहसीलदार-राजनांदगांव

MyNews36 प्रतिनिधि मुबारक खान की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.