Roster system

रायपुर लोकसेवा गारंटी योजना के तहत तय समय सीमा में होने वाले कामों को पूरा करने के लिए रोस्टर की प्रक्रिया अपनाई जाएगी। इसमें सीमांकन और बटांकन के साथ ही नामांतरण के लंबित 75 हजार से अधिक प्रकरण को पूरा कराने के लिए नए सिरे से रणनीति बनाए जाने की कवायद शुरू की गई है। इसके अलावा इसमें लोकसेवा केंद्रों में आय-निवास, जाति समेत अन्य प्रमाण पत्रों के समय में निराकरण को भी प्राथमिकता दी गई है।

बता दें कि इसके तय समय में होने वाले कामों के लंबित होने पर संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई और जुर्माने का प्रावधान है। बीते दिनों इनके लंबित प्रकरणों को लेकर नोटिस की कार्रवाई की गई थी। इसके बावजूद प्लानिंग के अभाव में इन कामों को पूरा करने की गति जोर नहीं पकड़ पाई। ऐसे में संभागायुक्त जीआर चुरेंद्र ने सभी कलेक्टरों को इसके लिए रोस्टर प्रक्रिया के हिसाब से पूरा कराने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही अभी तक लोक सेवा गारंटी योजना के तहत पूरे किए गए कामों की रिपोर्ट भी जिलों से मंगाई जाएगी।

सीमांकन-बटांकन के लिए बांटेंगे काम

सीमांकन और बटांकन के लंबित कामों को शीघ्र निराकरण के लिए भी शेड्यूल बनेगा। इसके लिए राजस्व विभाग के अधिकारी पटवारियों के साथ राजस्व निरीक्षकों को भी जिम्मेदारी दी जाएगी, ताकि नए प्रकरणों को समय पर निराकरण कर दिया जाए।

तीन माह के अंदर दस्तावेज प्रदान करने का नियम

जाति, निवास, सहित भू-राजस्व से जुड़े दस्तावेज और प्रमाण पत्र देने का प्रावधान है। इसका उल्लंघन करने पर आवेदक शिकायत पर इस अधिनियम के तहत जिम्मेदारों पर 100 से एक हजार स्र्पए जुर्माने की कार्रवाई किए जाने के नियम हैं।

इस तरह बनेगी निराकरण की व्यवस्था

इन तय समयावधि में प्रमाण देने का प्रावधान

इनका कहना है

रोस्टर प्रणाली के हिसाब से प्राथमिकता के आधार पर तय समय सीमा वाले कामों के निराकरण के निर्देश कलेक्टरों को दिए गए हैं। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जीआर चुरेंद्र, कमिश्नर, रायपुर

Summary
0 %
User Rating 4 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In राजधानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Motivate:माँ-बाप का साथ छोड़ कर अब सबको करती हैं मोटिवेट ऐमी

अमेरिका-अमेरिका की रहने वाली 37 साल की एमी ब्रूक्स को जन्म के बाद ही मां-बाप ने छोड़ दिया …