Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

RIP Rajmata Devendra Kumari Singhdev: राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव का निधन

RIP Rajmata Devendra Kumari Singhdev : अविभाजित मध्यप्रदेश की पूर्व मंत्री,सरगुजा राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव(86 वर्ष)का सोमवार शाम सात बजे नई दिल्ली के मेदांता अस्पताल में निधन (RIP Rajmata Devendra Kumari Singhdev) हो गया।वे अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव,योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष,सरगुजा महाराजा स्व. एमएस सिंहदेव की धर्मपत्नी तथा छत्तीसगढ़ शासन के पंचायत व ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव की माता थी।पिछले कुछ महीने से वे अस्वस्थ चल रही थीं।

स्व.देवेंद्र कुमारी सिंहदेव का जन्म 13 जुलाई 1933 को हिमाचल प्रदेश के जब्बल राजपरिवार में हुआ था।अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव स्व. एमएस सिंहदेव से विवाह के बाद वे सरगुजा आई थीं।सरगुजा में उन्होंने पूरा वक्त बिताया। यहीं से उन्होंने राजनीति की शुरुआत भी की थी।

कांग्रेस की राष्ट्रीय नेत्री स्व. देवेंद्र कुमारी सिंहदेव एक बार अंबिकापुर व एक बार बैकुंठपुर से विधायक भी रहीं। अविभाजित मध्यप्रदेश में प्रकाशचंद्र सेठी व अर्जुन सिंह के मंत्री मंडल की वे सहयोगी भी रहीं।उन्हें आवास,पर्यावरण,मध्यम सिंचाई,वित्त विभाग की जवाबदारी दी गई थी।

अंतिम समय तक वे सरगुजा के विकास और यहां के लोगों की खुशहाली से जुड़ी रहीं।उनके प्रयासों से सरगुजा में कई बड़े काम उनके मंत्रित्व काल में पूरे हुए थे।पिछले कुछ महीने से वे अस्वस्थ चल रही थीं।उनका उपचार नई दिल्ली के मेदांता अस्पताल में चल रहा था।सोमवार सुबह ही अंबिकापुर में यह सूचना आई थी कि राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव की तबीयत अचानक ज्यादा बिगड़ गई है।

इसी सूचना पर अंबिकापुर प्रवास के सारे कार्यक्रम रद्द कर उनके पुत्र व पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव दोपहर लगभग दो बजे दरिमा एयरपोर्ट से नई दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। शाम 7.03 बजे उनके निधन की खबर लगते ही सरगुजा में शोक की लहर दौड़ गई।मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस लेने के दौरान सारे परिजन मौजूद रहे।

मृदुभाषी,सामाजिक व धार्मिक गतिविधियों के साथ राजनीति में भी सक्रिय रहने वाली राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव का अंतिम संस्कार बुधवार को अंबिकापुर के रानी तालाब स्थित राज परिवार के मुक्तिधाम में किया जाएगा।वे अरूणेश्वर शरण सिंहदेव, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महामंत्री आशा कुमारी सिंहदेव की माता व एआइसीसी मेंबर व जिला पंचायत सदस्य आदित्येश्वर शरण सिंहदेव की दादी थी।

उनके निधन से उत्तरी छत्तीसगढ़ के कांग्रेसजन शोकस्तब्ध हैं।जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बालकृष्ण पाठक ने बताया कि मंगलवार को विशेष विमान से उनका पार्थिव शरीर कोठीघर में आमजनों के दर्शनार्थ रखा जाएगा। श्रद्घांजलि के बाद उन्हें अंतिम विदाई दी जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.