RIP Ajit Jogi

RIP Ajit Jogi: छत्तीसगढ़ सरकार ने अजीत जोगी के निधन पर तीन दिन का राजकीय शोक किया घोषित,राजकीय सम्मान के गौरेला में होगा अंतिम संस्कार

RIP Ajit Jogi
RIP Ajit Jogi

रायपुर MyNews36- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी (RIP Ajit Jogi) के निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है।जोगी का आज यहां एक निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान निधन हो गया।मुख्यमंत्री बघेल ने जोगी के निधन पर राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है।इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और कोई भी शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे।जोगी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ कल 30 मई को गौरेला में होगा।मुख्यमंत्री बघेल ने अपने शोक संदेश में कहा है कि जोगी का निधन (RIP Ajit Jogi) छत्तीसगढ़ के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने प्रदेश के विकास में जोगी के योगदान का स्मरण करते हुए कहा कि राज्य बनने के बाद उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य के तीव्र विकास की रूपरेखा तैयार की और एक कुशल राजनीतिज्ञ एवं प्रशासक के रूप में राज्य को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद जोगी के नेतृत्व में बनी सरकार में केबिनेट मंत्री के रूप में कार्य करने का मौका मिला।उन्होंने कहा कि जोगी (RIP Ajit Jogi) ने छत्तीसगढ़ राज्य में गांव, गरीब और किसानों के कल्याण के लिए काम करने की दिशा निर्धारित की।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वर्गीय जोगी के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें इस दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।ज्ञातव्य है कि जोगी बीते 9 मई से उपचार हेतु चिकित्सालय में भर्ती थे।पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्राध्यापक के रूप कैरियर की शुरूआत की।पहले आई.पी.एस. के रूप में अपनी सेवाएं दी तत्पश्चात भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चयनित हुए।अविभाजित मध्यप्रदेश के दौरान रायपुर सहित कई जिलों के कलेक्टर रहे।जोगी सांसद, विधायक भी रहे।एक नवंबर 2000 को छत्तीसगढ़ राज्य बना तो वे राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने।

अन्य खबर

राजयपाल अनुसुईया उईके ने अजीत जोगी के निधन पर किया गहरा दुःख व्यक्त

राजयपाल अनुसुईया उईके ने कहा कि- छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर मुझे गहरा दुःख हुआ।मैं उनकी आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करती हूं।उनके मृत्यु से प्रदेश को अपुरणीय क्षति पहुंची है।मैं उनके परिवारजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती हूं।

छत्तीसगढ़ में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित : पूर्व मुख्यमंत्री जोगी का अंतिम संस्कार होगा राजकीय सम्मान के साथ

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी के निधन होने पर प्रदेश में तीन दिन (29 से 31 मई 2020) का राजकीय शोक घोषित किया गया है। इस अवधि में राज्य में स्थित समस्त शासकीय भवनों और जहां पर नियमित रूप से राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाते हैं, वहां पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहेंगे तथा शासकीय स्तर पर कोई मनोरंजन और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नही किए जाएंगे।राज्य शासन द्वारा यह भी निर्णय लिया गया है कि स्वर्गीय जोगी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा इस आशय का आदेश आज मंत्रालय से जारी कर दिया गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ मंत्रिमंडल के सदस्यों ने गहरा दुःख व्यक्त किया

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी के निधन पर छत्तीसगढ़ के सभी मंत्रियों ने गहरा दुःख प्रकट किया है।जोगी का आज यहां एक निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान निधन हो गया।राज्य मंत्रिमंडल के सदस्यों ने जोगी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वे एक कुशल राजनेता और प्रशासक थे।उन्होंने गरीब किसानों और आदिवासियों की बेहतरी के लिए जीवन भर काम किया। छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने राज्य के विकास की नींव रखी।उनका निधन प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति है।मंत्री टी.एस. सिंहदेव, ताम्रध्वज साहू, रविन्द्र चौबे, डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, मोहम्मद अकबर, कवासी लखमा, डॉ. शिवकुमार डहरिया, श्रीमती अनिला भेंड़िया, गुरू रूद्रकुमार, जयसिंह अग्रवाल, उमेश पटेल, अमरजीत भगत ने संवेदना व्यक्त करते हुए ईश्वर से शोक-संतप्त परिवारजनों को इस दुःख को सहन करने की शक्ति की प्रार्थना की है।

MyNews36 App डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.