केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को सूंघने और स्वाद की क्षमता में कमी को भी कोरोना वायरस के लक्षण में शामिल कर लिया। इस मुद्दे पर राष्ट्रीय टास्क फोर्स द्वारा चर्चा की गई थी, जिसके बाद इस बारे में फैसला लिया गया है। इस मुद्दे को राष्ट्रीय टास्क फोर्स में चर्चा के दौरान शामिल किया गया था।

कोरोना के कई मामलों में रोगियों के सूंघने और स्वाद महसूस करने की क्षमता में कमी आई है, इसलिए इसे अब संक्रमण के लक्षण में शामिल कर लिया गया है। पहले बुखार, कफ, थकान, सांस लेने में दिक्कत, बलगम के साथ खांसी, मांसपेशियों में दर्द, नाक से पानी बहना-गला खराब होना-दस्त होना जैसे लक्षण शामिल थे, जिनके आधार पर कोरोना की जांच की जा रही थी।विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने अप्रैल में यूरोपीय संघ के कई देशों, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के साथ मिलकर कोविड -19 के प्रमुख लक्षणों में सूंघने और स्वाद की कमी को जोड़ा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.