Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Rain:मानसून का पहला माह आज खत्म,इन राज्यों को अभी भी बारिश का इंतजार

Rain

रायपुर- पश्चिम और मध्य भारत में सक्रिय मानसून के कारण सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। मध्यप्रदेश,महाराष्ट्र और गुजरात के कई हिस्सों में भारी बारिश से जल प्रलय की स्थिति बन गई है।मुंबई में तो मानसून ने कुछ ही दिनों में जून महीने के औसत का 97 फीसदी कोटा पूरा कर दिया है।वहीं दिल्ली समेत उत्तर भारत के चार राज्यों में लू चलने की संभावना है।मौसम विभाग के अनुसार बीते 100 साल में यह पांचवां जून है,जो इतना सूखा रहा।इस पूरे महीने में बारिश औसत से 35 फीसदी कम दर्ज हुई है।आमतौर पर इस महीने में 151 मिलीमीटर बारिश होती है लेकिन इस बार ये आंकड़ा 97.9 मिलीमीटर ही रहा है। 

बारिश न होने के कारण उत्तर भारत के अधिकतर राज्य भीषण गर्मी से तप रहे हैं।मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली,हरियाणा, चंडीगढ़,बिहार और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रविवार और सोमवार को लू चलने की संभावना है। 

बारिश न होने से खेती पर भी असर पड़ने की संभावना जताई जा रही है।वहीं मौसम विभाग ने कहा है कि जुलाई-अगस्त में मानसून देश के बचे हुए राज्यों में भी पहुंच जाएगा।

100 साल में पांचवीं बार इतना सूखा है जून

2009 में सबसे कम 85.7 मिलीमीटर हुई थी।2014 में 95.4 मिलीमीटर, 1926 में 98.7 मिलीमीटर और 1923 में 102 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई थी।2009 और 2014 ऐसे साल थे,जब अल-नीनो के प्रभाव के चलते मानसून कमजोर रहा।इस साल भी ऐसी ही स्थिति बताई जा रही है।मौसम विभाग के अनुसार अब तक केवल अंडमान-निकोबार, पूर्वी राजस्थान और जम्मू-कश्मीर में ही सामान्य से अधिक बारिश हुई है। जबकि कर्नाटक और लक्षद्वीप में सामान्य बारिश हुई है।

अच्छे मानसून की उम्मीद

मौसम विभाग को उम्मीद है कि 30 जून के बाद मानसून में अच्छी रफ्तार दिखाई देना शुरू हो जाएगी।इस बात की काफी उम्मीद है कि मानसून मध्य भारत और गुजरात के बाकी हिस्सों की ओर बढ़ेगा।जुलाई में कम दबाव के चलते मानसून के बेहतर होने की उम्मीद है।जुलाई का महीना खरीफ की फसल की बुआई के लिए महत्वपूर्ण होता है।इस महीने को सबसे अधिक बारिश वाला महीना भी माना जाता है।

Advetisement By MyNews36

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.