PTRSU Syllabus change

रायपुर- पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय से लेकर राज्य के तमाम विश्वविद्यालयों में 15 साल बाद स्नातक स्तर पर कॉलेजों का सिलेबस बदल दिया गया है।सबसे दिलचस्प बात यह है कि-पहली बार सभी विश्वविद्यालयों और उनसे संबद्घ कॉलेजों में यूनिफाइड सिलेबस लागू कर दिया गया है।अभी तक कुछ विषयों में अलग-अलग विश्वविद्यालयों के सिलेबस अलग-अलग था।विश्वविद्यालयों ने राज्य के केंद्रीय अध्ययन मंडल की सिफारिश के बाद इसे लागू कर दिया है।बदला हुआ सिलेबस सभी विश्वविद्यालय और कॉलेजों में प्रथम वर्ष में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए लागू होगा।

पिछले साल जो विद्यार्थी स्नातक स्तर में अध्ययनरत रहे उनके लिए आने वाले सालों में दूसरे और तीसरे वर्ष के लिए पुराना सिलेबस ही होगा। इस साल प्रथम वर्ष पास कर निकलने वाले विद्यार्थियों को आने वाले शिक्षा सत्र 2019-20 से 2021-22 तक स्नातक द्वितीय वर्ष और स्नातक तृतीय वर्ष में हर साल नया सिलेबस पढ़ना पड़ेगा।सिलेबस बदलने के बाद अब यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों में शिक्षा का स्तर बेहतर होने का दावा किया जा रहा है।

सरगुजा विवि ने सबसे पहले किया लागू

नए कोर्स को राज्य के संत गहिरा गुरु विश्वविद्यालय सरगुजा अंबिकापुर ने सबसे पहले लागू कर दिया है।यहां की कार्यपरिषद में सूचना ग्रहण करके कोर्स को छात्रों के हवाले कर दिया गया है।

विवि सिलेबस के साथ-साथ अब स्टूडेंट स्पोर्ट सिस्टम,प्रमोट कल्चर, प्राइवेट सेक्टर के साथ तर्कसंगत पार्टनरशिप, गवर्नेंस रिफॉर्म्स फॉर क्वालिटी, रैंकिंग आफ इंस्टीट्यूशन एंड एक्रीडेशन,फाइनेंसिंग हायर एजुकेशन, प्रमोशन रिसर्च एंड इनोवेशन,न्यू नॉलेज,पेस सेटिंग रोल आफ सेंट्रल इंस्टिट्यूशन, इंप्रूविंग ऑफ स्टेट पब्लिक यूनिवर्सिटीज,इंटीग्रेटेड स्किल डवलेपमेंट इन हायर एजुकेशन,ऑनलाइन कोर्सेस,सोशल गेप्स को दूर करना आदि पर काम किया जा रहा है।

कम्प्यूटर कोर्स में सबसे अधिक थी भिन्नता

रविवि समेत सभी विवि में बीसीए (बैचलर ऑफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन) पाठ्यक्रम को एक जैसे लागू करने की मांग सालों से चल रही थी। इसका प्रस्ताव जब केंद्रीय अध्ययन मंडल के पास पहुंचा तो वहां सभी विश्वविद्यालयों के सभी विषयों में एकरूपता लाने के लिए यूनिफाइड सिलेबस पर फोकस किया गया।

Whats App ग्रुप में जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

इस कारण से बदला सिलेबस

विशेषज्ञों की मानें तो 15 साल से कॉलेजों में स्नातक स्तर पर (यूजी) घिसा-पिटा सिलेबस पढ़ाया जा रहा था।नतीजा यह हो रहा था कि-युवाओं को डिग्री तो मिल रही है,लेकिन नौकरी पाने में मशक्कत करनी पड़ रही है।अभी जो कोर्स डिजाइन किया गया है इसमें रोजगार पर विशेष फोकस है।तकनीकी जिस तरह से विकसित हो रही है,उसके हिसाब से सिलेबस बदलने के साथ-साथ कोर्सेस में आमूलचूल परिवर्तन किया जा रहा है।

यूजीसी ने भी लिखा था पत्र

यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) ने तीन साल पहले सिलेबस अपग्रेड करने के लिए राज्य के विश्वविद्यालयों को पत्र लिखा था।लेकिन किसी भी विवि में यूजी का सिलेबस अपडेट नहीं हो पाया था।

केंद्रीय अध्ययन मंडल ने स्नातक का जो कोर्स रिवाइज किया है उसे लागू किया जा रहा है।प्रथम वर्ष का कोर्स बदल गया है। – डॉ.केशरीलाल वर्मा, कुलपति. पं. रविवि

नए कोर्स को हमने कार्यपरिषद में लाकर लागू कर दिया है। राज्य शासन की मंशा के अनुरूप बच्चों को अपडेट सिलेबस मिलेगा। – डॉ. रोहिणी प्रसाद, कुलपति, सरगुजा विवि

अन्य विवि की तरह बस्तर विवि में भी नया कोर्स लागू कर दिया गया है। इसी साल से विद्यार्थी पढ़ेंगे। – डॉ. एसके सिंह, बस्तर विवि

Summary
0 %
User Rating 2.61 ( 4 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Big cabinet decision : जमीन रजिस्ट्री में 30 फीसदी की कटौती….

रायपुर MyNews36- भूपेश सरकार ने आम जनता के हित को ध्यान में रखकर बड़ा तोहफा दिया है।भूपेश स…