बर्ड फ्लू के खौफ से घटे चिकन और अंडों के दाम,लेकिन क्या सच में चिकन-अंडे खाने से फैल सकता है बर्ड फ्लू?

कोरोना संकट की मार अभी लोग झेल ही रहे हैं कि बीच में बर्ड फ्लू का कहर छा गया है। लोगों ने बर्ड फ्लू के डर से चिकन खाना छोड़ दिया है। लेकिन अभी घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि अभी तक इंसानों तक यह वायरस नहीं फैला है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हमें सावधानी बरतने की जरूरत नहीं है। क्योंकि हमारे देश के कई राज्यों में हजारों पक्षियों की बर्ड फ्लू के चलते मौत हो चुकी है। बर्ड फ्लू से सबसे ज्यादा राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश के इलाके प्रभावित हुए हैं।

बर्ड फ्लू फैलने के बाद से लोग चिकन और अंडे जैसी मांसहारी चीजों से दूरियां बना रहे हैं। लोगों में बर्ड फ्लू का खौफ इतना ज्यादा फैल चुका है कि 180 से 200 रुपए किलो मिलने वाली चिकन की कीमत 40 रुपए प्रति किलो पहुंच चुकी है। इतना ही नहीं कई कई राज्यों के जिलों में चिकन की बिक्री पर पाबंदी लगाई जा चुकी है। अब सवाल यह उठता है कि क्या इस समय चिकन या अंडा खाना हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है? अगर आपके मन में भी इस तरह के सवाल हैं, तो डायटीशियन स्वाती बाथवाल आपके मन के सवालों का जबाव देने जा रही हैं। आपके इस सवाल से-

पहले जानते हैं बर्ड फ्लू क्या है और इसके लक्षण क्या हैं?

बर्ड फ्लू क्या है? (What is avian flu)

बर्ड फ्लू एक एवियन इंफ्लूएंजा वायरस है। यह कई तरह के होते हैं लेकिन एच-5एन-1 इंसानों को संक्रमित करता है। बर्ड फ्लू खासतौर पर प्रवासी जलीय पक्षियों से फैलता है। जिसमें प्रवासी जंगली बतख को प्रमुख माना गया है। पालतू मुर्गियों में बर्ड फ्लू काफी आसानी से फैल सकता है। बर्ड फ्लू संक्रमित पक्षी के मल, मुंह के लार, नाक के स्राव या आंखों से निकलने वाली पानी के संपर्क में आने से होती है। यह बीमारी संक्रमित पक्षियों के संपर्क में आने से इंसानों और जानवरों में भी आसानी से फैल सकता है।

बर्ड फ्लू के लक्षण (Symptoms of bird flu)

बर्ड फ्लू के लक्षण सामान्य इंफ्लूएंजा वायरस की तरह ही होते हैं। आइए जानते हैं इसके लक्षण-

  • सांस लेने में परेशानी।
  • खांसने में परेशानी महसूस होना
  • कफ बनना।
  • गले में कफ जमना।
  • सिर दर्द बने रहना।
  • बार-बार उल्टी जैसा महसूस होना।
  • बुखार आने के साथ-साथ शरीर में अकड़न महसूस होना।
  • शरीर में दर्द रहना।
  • थकान महसूस होना
  • पेट में दर्द होना।

क्या बर्ड फ्लू के समय चिकन और अंडा खाना है सेफ? (Is chicken and egg food safe during bird flu?)

स्वाती बाथवाल बताती हैं कि बर्ड फ्लू फैलने के इस दौर में चिकन या फिर अन्य पक्षी खाना आपकी च्वॉइस हो सकती है। लेकिन अगर आप कुछ समय के लिए चिकन खाना छोड़ते हैं, तो यह आपके लिए काफी बेहतर हो सकता है। खासतौर पर ऐसे लोग, जिनके इलाके में बर्ड फ्लू फैल रहा है। क्योंकि भले ही अभी तक इंसानों में बर्ड फ्लू के सैंपल नहीं मिले हैं, लेकिन पक्षी से इंसानों में बर्ड फ्लू तेजी फैलने की संभावना होती है। स्वाती बताती हैं कि अभी तक जितने भी इंफ्यूएंजा वायरस फैलने हैं, वे किसी ना किसी रूप में पक्षी के जरिए इंसानों में फैले हैं। ऐसे में अगर आप बर्ड फ्लू संक्रमण वाले स्थान पर रहते हैं, तो चिकन और पक्षियों से दूरी बनाना की आपके लिए बेहतर होगा। वहीं, अगर आप चिकन या अंडा खाना नहीं छोड़ सकते हैं, तो आपको कुछ सावधानियां बरतने की जरूरत हैं। जैसे-

  • चिकन को अच्छी तरह पकाएं।
  • चिकन पकाते समय इस बात का ध्यान रखें कि वह कच्चा ना रहे।
  • चिकन को पकाने से पहले उसे गर्म पानी में उबालें और इसके बाद ही इसमें मसाले या अन्य चीजें मिक्स करें।
  • अगर आप अंडा खाते हैं, तो हाफ फ्राई अंडे का सेवन बिल्कुल ना करें।
  • अंडे को भी अच्छी तरह पकाकर ही खाएं।

चिकन-अंडा ना खाएं, तो शरीर में कैसे करें प्रोटीन की कमी को पूरा?

कुछ लोगों का मानना होता है कि चिकन-अंडा ना खाने से शरीर में प्रोटीन की कमी हो सकती हैं। लेकिन ऐसा नहीं है। अगर आप चिकन अंडा कुछ समय के लिए छोड़ रहे हैं, तो कई ऐसे वीगन डाइट हैं, जिससे आप अपने शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा कर सकते हैं। आइए जानते हैं उन डाइट के बारे में-

  1. फ्लैक्स सीड पाउडर – स्वाती बाथवाल बताती हैं कि फ्लैक्स सीड पाउडर से आप अंडे में मौजू प्रोटीन के गुण प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए थोड़ा सा फ्लैक्स सीड लें। इसे अच्छे से रोस्ट करें। अब इस सीड को पीस लें। अब 1 चम्मच फ्लैक्स सीड पाउडर को पानी में घोलें और कुछ मिनट के लिए छोड़ दें। कुछ देर बार इसमें अंडे लम्स नजर आएंगे। आप इसे पी जाएं। इस पानी से आपके शरीर को भरपूर प्रोटीन हासिल होगा।
  2. सोया चंक्स – इसके साथ सोया चंक्स में भी प्रोटीन की अधिकता होती है। अगर आप इन दिनों चिकन का सेवन अगर आप नहीं कर रहे हैं, तो सोया चंक्स खाएं। इससे आपके शरीर को भरपूर प्रोटीन मिलेगा।
  3. ग्रीक दही में है हाई प्रोटीन- ग्रीक दही आम दही से काफी ज्यादा गाढ़ी होती है। साथ ही यह अन्य दही की तुलना में टेस्टी और पोषक तत्वों से भरपूर है। यह आपको बाजार में आसानी से मिल जाएगी। अगर आप अपने शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करना चाह रहे हैं, तो इस समय ग्रीक दही खाना आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है। इसका टेस्‍ट बढ़ाने के लिए आप इसमें अखरोट और बादाम जैसी चीजें मिला सकते हैं। इससे प्रोटीन की मात्रा और अधिक बढ़ जाती है।
  4. कॉटेज पनीर – कॉटेज पनीर का केसिन से भरपूर होता है। इसमें धीमा पाचन गुण होता है। प्रोटीन की बात करें, तो कॉटेज पनीर में हाई प्रोटीन होता है, जो आपके शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा कर सकता है। इसके साथ ही धीमा पाचन गुण होने के कारण यह लंबे समय तक भूख को कंट्रोल रखता है, जिससे आपका वजन कंट्रोल में रहता है।
  5. मसूर की दाल – मसूर की दाल एक शाकाहारी आहार है, जो शाकाहारी प्रोटीन के नाम से प्रसिद्ध है। कई घरों में डिलीवरी के बाद महिलाओं को मसूर की दाल पीने के लिए दी जाती है। ताकि उनका ब्रेस्ट मिल्क बढ़े। इसके साथ ही इसमें फाइबर, मैंगनीज, फोलेट, आयरन, फॉस्फोरस, पोटेशियम और विटामिन बी भरपूर रूप से होता है।

बर्ड फ्लू से बचाव (Bird flu prevention)

  • अपने घर में पालतू पक्षियों को न रखें।
  • खुले बाजारों से चिकन या अन्य मांस खरीदने से बचें।
  • संक्रमण फैलने से बचाव के लिए बाजार जाने से पहले और बाहर से आने के बाद खुद को सैनिटाइज करना ना भूलें।
  • पक्षियों के संपर्क से दूर रहने की कोशिश करें।
  • बर्ड फ्लू के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करेँ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.