मरीज को नही मिला ब्लड बैंक में खून तो समाज सेवक पुत्री पत्रकारिता की छात्र अक्षता शुक्ला ने किया रक्तदान

कोंडागाँव MyNews36 प्रतिनिधि- कोण्डागांव जिलावासियों को स्वास्थ्य संबंधी सुविधाएं देने के लिए सरकार द्वारा करोडों रुपए खर्च कर जिला हॉस्पिटल संचालन हेतु भवन एवं इलाज के लिये सभी आवश्यक यंत्र तो उपलब्ध करा दीया गया है। लेकिन ब्लड बैंक में खून की कमी से भी जूझ रहा है।जिला अस्पताल कोण्डागांव में ब्लड बैंक तो है लेकिन वर्तमान में देखने को यह मिल रहा है कि यहां रक्तदाता नहीं पहुंच पा रहे हैं और वहीं जिला अस्पताल में विभिन्न कारणों या बिमारियों से खून की कमी का दंश झेल रहे मरीजों के परिजन विभिन्न ग्रुप के ब्लड के लिए भटकते नजर आ रहे हैं।

ऐसे ही वर्तमान में केशकाल क्षेत्र की एक महिला लगभग एक सप्ताह से जिला अस्पताल में भर्ती है और जिसके शरीर में मात्र 3-4 ग्राम खून है, जिसे ए नेगेटिव ग्रुप का ब्लड चाहिए। लेकिन ब्लड बैंक में रक्त नहीं है और न ही ए नेगेटिव ग्रुप का रक्तदाता ही मिल पा रहा है, रक्त की कमी से जूझ रही महिला की मां ने रक्तदाताओं से आग्रह किया है कि वे आगे आकर रक्तदान करें ताकि उसकी बेटी को जीवनदान मिल सके।

इस बात की जानकारी प्रेस प्रतिनिधियों को मिलने पर उनके द्वारा भी सोशल मीडिया के माध्यम से ए नेगेटिव ग्रुप के रक्तदाता की तलाश की जारी थी। ब्लड बैंक में रक्त नहीं होने की जानकारी से पूर्व अवगत और महिला द्वारा ओ पाॅजिटिव रक्त की आवश्यक बताए जाने पर सामाजिक कार्यकर्ता एवं प्रेस प्रतिनिधि शैलेष शुक्ला ने कुशाभाऊ ठाकरे (चंदूलाल चंद्राकर) पत्रकारिता विश्व विद्यालय में पत्रकारिता का कोर्स कर रही अपनी पुत्री अक्षता शुक्ला को समाज सेवा हेतु आगे आकर रक्तदान करने हेतु प्रेरित करने पर अक्षता शुक्ला ने 22 जून को जिला अस्पताल में पहुंचकर रक्तदान किया, लेकिन भर्ती महिला का ब्लड ग्रुप ए नेगेटिव होने वजह से अक्षता द्वारा दिया गया रक्त तत्काल ही एक अन्य मरीज के काम आ गया।

यह बात अपने आप में सिद्ध करता है कि जिला अस्पताल में रक्त की आवश्यकता कितनी अधिक है। ज्ञात हो कि ब्लड बैंक में कार्यरत कर्मचारियों से पूर्व में मिली जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल में प्रतिदिन 10 से 15 लोग खून की खोज में भटकते हैं, लेकिन वहीं उस अनुपात में रक्तदाता नहीं मिल पाते हैं।

Mynews36 प्रतिनिधि राजीव गुप्ता की रिपोर्ट

Leave A Reply

Your email address will not be published.