हालत बिगड़ने पर एक बालक को जगदलपुर किया गया रिफर

कोण्डागांव MyNews36 प्रतिनिधि- विगत 02 जुलाई को कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा ने विश्रामपुरी एवं केशकाल क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे थे। जहां उन्होने स्व-सहायता समूह के द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यो का निरीक्षण किया गया। इस दौरान वे विश्रामपुरी में संचालित बिहान कैंटीन के निरीक्षण करने पहुंचे। जहां उन्हें कैंटीन संचालन समिति की अध्यक्षा अमिता सलाम के द्वारा अपने दोनो बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में अवगत कराया गया।

उन्होने बताया कि उनके दोनों बच्चे जितेंद्र सलाम (18 वर्ष) एवं सुनील सलाम (20 वर्ष) विगत कुछ वर्षो से मानसिक व्याधियों से ग्रसित है। बड़ा बेटा सुनील विगत 03 वर्षो से मानसिक रूप से परेशान है एवं दिनभर वह सोया ही रहता है तथा छोटा बेटा जितेन्द्र विगत 01 वर्ष से अत्यन्त क्रोधि स्वभाव का हो गया है। इस पर कलेक्टर ने दोनो बालकों को शीघ्र ही जिला अस्पताल में इलाज हेतु ले जाने के निर्देश दिए। जिस पर जिला पंचायत सीईओ डी एन कश्यप के आदेश पर जनपद पंचायत एवं बिहान की संयुक्त टीम का निर्माण कर बालकों को विश्रामपुरी से जिला अस्पताल कोण्डागांव में इलाज हेतु लाने की व्यवस्था की गई।

इस संबंध में बिहान के जिला मिशन प्रबंधक विनय सिंह ने बताया कि ईलाज के दौरान जितेंद्र सलाम के द्वारा डॉक्टर एवं स्टाॅफ नर्सों के साथ मारपीट गाली-गलौज एवं सामानों को तोड़-फोड़ कर मानसिक रोग विशेषज्ञ के साथ हाथापाई की गयी। जिला अस्पताल में भर्ती के पश्चात् शाम तक बालक के स्वास्थ्य में सुधार नहीं होने के कारण डाॅक्टरों के सुझाव पर कलेक्टर के द्वारा बालकों को मेडिकल कॉलेज डीमरापाल (जगदलपुर) भेजने की व्यवस्था की गयी।

कोण्डागांव से बिहान बडेराजपुर की टीम द्वारा बालक को 4 जुलाई को जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। वर्तमान में बालक का ईलाज निरंतर जारी है एवं उसके स्वास्थ्य में लगातार सुधार देखा जा रहा है। जगदलपुर पहुंचने पर माता-पिता के समक्ष रहने एवं खाने की समस्या को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन द्वारा बालकों के परिवार को आर्थिक सहयोग भी किया गया साथ ही अन्य सहायता के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी व्यवस्था करने हेतु प्रयासरत् है।

Mynews36 प्रतिनिधी राजीव गुप्ता की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.