नई दिल्ली – ओमिक्रोन को लेकर सरकार ने फिर जनता को चेताया है। नीति आयोग सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ वीके पॉल ने कहा है कि ओमिक्रोन कोई सामान्य सर्दी नहीं है, इसे धीमा करना हमारी जिम्मेदारी है। आइए मास्‍क लगाएं और टीका लगवाएं। यह सच है कि वे (टीके) एक हद तक मददगार होते हैं। टीकाकरण हमारी COVID प्रतिक्रिया का महत्वपूर्ण हिस्‍सा है।उन्‍होंने कहा, दवा के उपयोग के लिए एक तर्कसंगत दृष्टिकोण होना चाहिए। हम दवाओं के अति प्रयोग और दुरुपयोग के बारे में चिंतित हैं। अति प्रयोग न करें, इसके परिणाम होंगे। गर्म पानी पिएं, घरेलू देखभाल में गरारे करें। इस बीच, महाराष्ट्र कैबिनेट ने कहा है कि कोविड के मद्देनजर इस साल सभी स्कूल बसों को सालाना वाहन कर से शत-प्रतिशत छूट मिलेगी। 10 से कम श्रमिकों वाले प्रतिष्ठानों सहित सभी प्रतिष्ठानों के लिए मराठी साइनबोर्ड अनिवार्य होंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा, COVID स्थिति पर पीएम द्वारा समीक्षा बैठक के बाद, हमने हल्के और मध्यम मामलों में वर्गीकृत गंभीरता के साथ अपनी डिस्चार्ज नीति को संशोधित किया है। लगातार 3 दिनों तक पॉजिटिव और गैर-आपातकालीन परीक्षण से कम से कम 7 दिनों के बाद माइल्ड केस डिस्चार्ज, डिस्चार्ज से पहले परीक्षण की कोई आवश्यकता नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि चुनावी रैलियों पर प्रतिबंध बढ़ाया जाएगा या नहीं, यह बाद में पता चलेगा। चुनाव आयोग ने सभा, रैलियों से संबंधित दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

जैसे-जैसे स्थिति होती है हम चुनाव आयोग के साथ समन्वय करेंगे। उसके अनुसार निर्णय लिया जाएगा। दूसरी तरफ आईसीएमआर के डीजी डॉ बलराम भार्गव ने कहा है कि सभी रोगसूचक व्यक्तियों का परीक्षण किया जाना आवश्यक है, जिसमें प्रयोगशाला द्वारा पुष्टि किए गए मामलों के सभी हाई रिस्‍क वाले मामले के संपर्क शामिल हैं। टच मामलों को तब तक परीक्षण करने की आवश्यकता नहीं है जब तक कि वे हाई रिस्‍क में न हों। सभी संपर्कों के लिए 7 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन होना चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.