बीजापुर – जिले में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां तर्रेम थाना क्षेत्र के वट्टीगुड़ा गांव का एक परिवार नक्सलियों के विरुद्ध हत्या का मामले में सबूत के रूप में मृतक की जली हुई हड्डियां लेकर थाना पहुंचे थे। 29 मई को सामने आए इस मामले में पुलिस ने एफआइआर दर्ज कर ली है।

मिली जानकारी के अनुसार भद्राचलम तेलंगाना पुलिस की सूचना पर बीजापुर पुलिस ने नक्सलियों के खिलाफ ग्रामीण की हत्या के आरोप में एफआइआर दर्ज करने मृतक के परिवार वालों से संपर्क किया था। 29 मई को बीजापुर पहुंचे मृतक मड़कम आयता के स्वजन से पुलिस ने जब हत्या के सबूत मांगें तो स्वजन ने पुलिस के सामने अस्थियां रख दी। अब पुलिस हड्डियों को डीएनए जांच के लिए भेज रही है।घटना दो माह पहले 27 मार्च की है। तेलंगाना के राजूनगरम से मड़कम आयता अपने पुस्तैनी गांव वट्टीगुड़ा पहुंचा था। नक्सलियों ने उसका अपहरण कर लिया और जनअदालत लगाकर गाला घोंट कर हत्या कर दी थी। घटना के बाद मृतक के स्वजन डर गए और किसी को घटना की सूचना नही दी।

दो माह बाद स्वजन मामले में नक्सलियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने सामने आए हैं। मृतक के भतीजे देवा मड़कम ने बताया कि उसके चाचा मड़कम आयता ने 2005 में दूसरी शादी कर ली थी, उस समय नक्सलियों ने इसका विरोध किया था। अपनी जान बचाने के लिए वह तेलंगाना के राजूनगरम चला गया और खेती करने लगा। उस समय उसकी दूसरी पत्नी ज्योति मड़कम भी तेलंगाना में रहने लगी। धीरे-धीरे समय बीतने लगा तो मड़कम आयता अपने पैतृक गांव आने-जाने लगा।

जन अदालत में हुई थी हत्या

मृतक मड़कम आयता जब भी तेलंगाना से छत्तीसगढ़ आता था तब तब इस बात का ध्यान रखता था कि उसके आने की खबर नक्सलियों को ना लगे। लगातार अपने गांव से सुरक्षित वापस तेलंगाना लौटने से धीरे-धीरे उसका डर काम होने लगा। 27 मार्च को एक बार फिर वह अपने ट्रैक्टर से मजदूर लेने और अपनी पहली पत्नी के बच्चों से मिलने अपने गांव वट्टीगुड़ा आया हुआ था। इस दौरान उसके साथ उसका साथी पाण्डु भी था। जो उसके साथ ही तेलंगाना में बस चुका है। मड़कम आयता और पाण्डु के गांव आने की खबर नक्सलियों को लग गई। नक्सलियों ने दोनों को अपने कब्जे में ले लिया और जनअदालत लगाकर मड़कम आयता और पाण्डु को रस्सियों से गाला घोंटकर हत्या कर दी।

तेलांगना पुलिस से किया संपर्क

घटना के बाद से मृतक के स्वजन काफी डरे हुये थे। इसके बारे में किसी से शिकायत नहीं की, लेकिन कुछ समय बाद मृतक की दूसरी पत्नी ज्योति मड़कम ने नक्सलियों के खिलाफ थाने में मामला दर्ज करवाने का फैसला करते हुए तेलंगाना के भद्राचलम पहुंचे थे। भद्राचलम पुलिस ने घटना स्थल छत्तीसगढ़ का होना बताकर शिकायत की कापी बीजापुर पुलिस को भेजी है।

बीजापुर पुलिस ने यहां मड़कम आयता के स्वजन से संपर्क कर हत्या होने की जानकारी के संबंध में कुछ सबूत लाने को कहा था। सबूत के रूप में पीड़ित परिवार मृतक की अस्थियां कपडे में लपेट कर बीजापुर पुलिस मुख्यालय पहुंचे थे। थाना प्रभारी तरेम ने मामले की पुष्टि की है। थाना प्रभारी ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जांच के लिये हड्डियों को भेजा गया लैब

बीजापुर एसपी अंजय वैष्णव ने बताया कि पीड़ित परिवार प्राथमिकी दर्ज कराना चाहती थी दो दिन पूर्व तर्रेम थाने में एफआइआर दर्ज कर ली गई है। पीड़ित परिवार द्वारा जो हड्डियां उपलब्ध करवाई गई हैं,उससे सेंपल ले कर जांच के लिए लैब भेजा जा रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जांच के बाद ही पूरा मामला स्पष्ट हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.