नासा की कमान भारतीय मूल की भव्या लाल बनी एजेंसी की कार्यकारी प्रमुख

भारतीय-अमेरिकी भव्या लाल को एक फरवरी सोमवार को नासा द्वारा अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी की कार्यकारी प्रमुख नियुक्त किया गया।

भव्या लाल अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन द्वारा नासा में बदलाव संबंधी समीक्षा दल की सदस्य हैं और बाइडन प्रशासन के अंतर्गत एजेंसी में परिवर्तन संबंधी कार्यों को देख रही हैं।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने एक बयान में कहा कि लाल के पास अभियांत्रिकी एवं अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का व्यापक अनुभव है। लाल अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी एवं नीति समुदाय की सक्रिय सदस्य भी हैं।

शिक्षा
भव्या लाल ने परमाणु विज्ञान में बैचलर ऑफ साइंस और मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री प्राप्त की है साथ ही मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से टेक्नोलॉजी एंड पॉलिसी में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री ली है। वहीं जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी से सार्वजनिक नीति और सार्वजनिक प्रशासन में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है।

उपलब्धि
एसटीपीआई में शामिल होने से पहले, लाल ने सी-एसटीपीएस एलएलसी के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया, जो कि वाल्थम, मैसाचुसेट्स में एक विज्ञान और प्रौद्योगिकी नीति अनुसंधान और परामर्श फर्म है। इससे पहले, वह कैम्ब्रिज, मैसाचुसेट्स में एबट एसोसिएट्स इंक में सेंटर फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी पॉलिसी स्टडीज के निदेशक के रूप में कार्यरत थीं।

वहीं आपको बता दें, कि भव्या पहले से ही नासा से कई प्रोग्रामों के जरिए जुड़ी हुई हैं। वह पहले ही नासा के प्रसिद्ध प्रोग्राम इनोवेटिव एडवांस्ड कॉन्सेप्ट्स प्रोग्राम और नासा एडवाइजरी काउंसिल की टेक्नोलॉजी, इनोवेशन एंड इंजीनियरिंग एडवाइजरी कमेटी की एक्सटर्नल काउंसिल मेंबर भी रह चुकी हैं।

लाल ने पांच नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज, इंजीनियरिंग, और मेडिसिन (एनएएसईएम) समितियों में भी काम किया है, जिनमें से सबसे हाल ही में, स्पेस न्यूक्लियर प्रोपल्शन टेक्नोलॉजीज पर एक है जो 2021 में रिलीज होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.