बिलासपुर MyNews36 – छ.ग राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी को अनुसूचित जाति जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक महासंघ ने अंतिम बिदाई दिया।जैसे ही जोगी जी के पार्थिव शरीर रायपुर से बिलासपुर मरवाही सदन पहुँचा महासंघ के तमाम पदाधिकारी उन्हें पुष्प अर्पण कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर भावभीनी बिदाई दिए तथा इस मौके पर छ.ग के मुख्यमंत्री के पिता नन्दकुमार बघेल के अध्यक्षता में गौरेला पेंड्रा मरवाही जिला का नाम जोगी जी के नाम पर नामकरण करने की माँग का प्रस्ताव पास कर मुख्यमंत्री कार्यालय को भेज गया।

इस मौके पर नन्दकुमार बघेल सहित महासंघ के प्रमुख सुरेश दिवाकर, प्रदेश अध्यक्ष राधेश्याम टण्डन, प्रांतीय संयोजक क्रांति साहू,जगदीश कौशिक, शिव सारथी,अन्नपूर्णा यादव,संगीत कौशिक,मुस्कान साहू,कविता कोल,रेशु,परवीन बेगम सहित बड़ी संख्या में महासंघ के पदाधिकारी उपस्थित थे।

अन्य खबर

शैक्षणिक संस्थाओं के खुलने का रास्ता हुआ साफ

रायपुर-स्कूल, कॉलेज व शैक्षणिक संस्थाओं के खुलने का अब रास्ता साफ हो गया है। केंद्र सरकार ने भी इस बात के संकेत दे दिये हैं कि अनलॉक के दूसरे चरण में शैक्षणिक संस्थाओं को खोलने पर निर्णय लिया जायेगा। इससे पहले शनिवार को देश में कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन को सरकार ने 30 जून तक बढ़ाने का फैसला किया है। लॉकडाउन के इस पांचवें चरण में सरकार ने कंटेनमेंट जोन से बाहर लगभग हर तरह की गतिविध‍ियों को खोलने की इजाजत दी है।

1 जुलाई से अनलॉक-2 की शुरुआत होगी, इसके तहत स्कूल, कालेज व शैक्षणिक संस्थाएं खुलेंगी। शैक्षणिक संस्थाओं को खोलने का पूरा अधिकार राज्य सरकार के पास होगा। अनलॉक-2 पर फैसला जून के दूसरे सप्ताह में लिया जायेगा। माना जा रहा है कि जुलाई से स्कूल-कालेज व कोचिंग संस्थाएं खुल सकती है। हालांकि इससे पहले ही छत्तीसगढ़ सरकार जुलाई में स्कूल-कालेज खोलने के संकेत दे चुकी है।

MyNews36 App डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.