नमस्कार कोविड-19 अनलॉक की प्रक्रिया अब पूरे देश में शुरू हो गई है…,बदल गई कोरोना की कॉलर ट्यून

देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए देशभर में लॉकडाउन लगाया गया था। लॉकडाउन लगाने के बाद देश की आर्थिक गतिविधियों पर उल्टा असर पड़ा, जिससे निपटने के लिए सरकार ने आठ जून से देशभर में अनलॉक-1 का एलान किया।

अब तक आप किसी को फोन करने पर कोविड-19 की एक कॉलर ट्यून सुनते थे जो देश में कोरोना की स्थिति बयां करती थी। हमने आपको पहले बताया था कि उस कॉलर ट्यून के पीछे किसकी आवाज़ है लेकिन आपने शायद गौर नहीं किया होगा कि अब कॉलर ट्यून थोड़ी बदल गई है और उसमें कोरोना के साथ-साथ अनलॉक-1 का भी जिक्र होने लगा है। 

अब ये कॉलर ट्यून ‘कोरोना वायरस या कोविड-19 से आज पूरा देश लड़ रहा है। मगर याद रहे हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं।’ से ना शुरू होकर ‘नमस्कार, कोविड-19 के अनलॉक की प्रक्रिया अब पूरे देश में शुरू हो गई है…ऐसे में अपने घरों से बाहर तभी निकलें जब बहुत आवश्यक हो’ से शुरू होती है। 

किसी को फोन करने पर कोरोना के प्रति जागरुक करने वाली कॉलर ट्यून कहती है कि ‘नमस्कार कोविड-19 के अनलॉक की प्रक्रिया अब पूरे देश में शुरू हो गई है…ऐसे में अपने घरों से बाहर तभी निकलें जब बहुत आवश्यक हो, फेस कवर या मास्क पहनते समय ध्यान रखें कि मुंह और नाक अच्छी तरह से ढ़कें रहें…सार्वजनिक स्थानों पर कम से कम दो गज या छह मीटर की दूरी रखें…हाथ और साफ संबंधी स्वच्छता का पालन करें…याद रखें कि छोटी सी लापरवाही ही भी भारी पड़ सकती है…खांसी बुखार या सांस लेने संबंधी समस्या होने पर तुरंत राज्य हेल्पलाइन या राष्ट्रीय हेल्पलाइन 1075 पर संपर्क करें…भारत सरकार द्वारा जनहित में जारी।’

आपको हमने पहले भी बताया था कि इस कॉलर ट्यून के पीछ मशहूर वॉयर ओवर आर्टिस्ट जसलीन भल्ला की आवाज है। जसलीन ने अपने करियर की शुरूआत खेल पत्रकार के तौर पर की थी। बाद में उन्होंने वॉयस ओवर कलाकार के तौर पर खुद को व्यस्त कर लिया और पिछले दस वर्ष से वो यह काम कर रही हैं। 

इससे पहले जो आप कॉलर ट्यून सुनते थे वो कुछ इस तरह थी ‘कोरोना वायरस या कोविड-19 से आज पूरा देश लड़ रहा है। मगर याद रहे हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं। उनसे भेदभाव ना करें। उनकी देखभाल करें और इस बीमारी से बचने के लिए जो हमारी ढाल हैं, जैसे हमारे डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मचारी, पुलिस, सफाई कर्मचारी आदि उनको सम्मान दें। उन्हें पूरा सहयोग दें। इन योद्धाओं की करो देखभाल तो देश जीतेगा कोरोना से हर हाल। अधिक जानकारी के लिए स्टेट हेल्प लाइन नंबर या सेंट्रल हेल्पलाइन नंबर 1075 पर करें। भारत सरकार द्वारा जनहित में जारी।’ 

Leave A Reply

Your email address will not be published.