Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Mynews36 के खबर पर लगी मुहर:झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ जांच शुरू…

जांच टीम ने डॉक्टर की सभी डिग्रियों को बताया फर्जी

Mynews36

राजनांदगांव Mynews36- झोलाछाप डॉक्टर के गलत इलाज के कारण क्षेत्र के मासुल एवं बहरा भाटागांव के एक बच्ची और एक महिला की बिगड़ी हालत को लेकर MyNews36 वेबपोर्टल में कल Exclusive समाचार प्रकाशित की गई थी।जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग में खलबली मची और हरकत में आए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने आनन-फानन में टीम गठित कर अवैध क्लीनिक चलाने वाले झोलाछाप डॉक्टर की तलाश शुरू की जहां पुलिस ने भी इस मामले में आज संज्ञान लिया और प्रार्थी तथा अन आवेदक झोलाछाप डॉक्टर भारत लाल टंडन को थाने तलब किया था तब स्वास्थ्य विभाग की टीम बीएमओ डॉ.विजय खोब्रा गड़े आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी और विशेषज्ञ डॉक्टर ए एन शुक्ला तथा सेक्टर सुपरवाइजर के नेतृत्व में पूरे मामले की पड़ताल शुरू किया।संबंधित पक्षों को थाने में बैठा कर पूछताछ एवं पूरे मामले की बारीकी से जांच कर दोनों पक्षों का बयान लिया गया।

जिसमें प्रार्थी पक्षियों ने उक्त झोलाछाप डॉक्टर के विरुद्ध गलत इलाज करने का आरोप लगाते हुए बताया कि-कथित झोलाछाप डॉक्टर के इलाज से ही 13 वर्षीय बच्ची एवं 25 वर्षीय महिला का स्वास्थ्य बुरी तरह खराब हो गया।जहां बच्ची कमर से लेकर पैर तक सुन्न हो जाने से चलने फिरने में असमर्थ है वहीं उक्त महिला भी इंजेक्शन वाली जगह पर गहरे घाव होने के कारण बिस्तर पर पड़ी हुई है।अना वेदक झोलाछाप डॉक्टर ने भी अपने बयान में चिकित्सा अधिकारियों को बताया कि उक्त इलाज उसके द्वारा किया गया है।

Photo:MyNews36- आरोपी झोलाछाप डॉक्टर-भारत लाल टंडन

जिसमें उसने अपनी गलती भी स्वीकार किया तथा यह भी स्वीकार किया कि-अवैध रूप से वह इस तरह का इलाज करते आ रहा है जहां सेक्टर सुपरवाइजर के अनुसार डेढ़ साल पूर्व उक्त झोलाछाप डाक्टर को अपनी दुकानदारी एवं क्लीनिक बंद करने चेताया गया था परंतु स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते और लगातार जांच नहीं होने के कारण इस तरह के अवैध क्लिनिक क्षेत्र में लगातार चल रहे हैं और ग्रामीण गरीब मरीज मौत के मुंह में जाने मजबूर हैं दोनों पक्षों के बयान के उपरांत चिकित्सा अधिकारियों की टीम को इस बात की पुष्टि हो गई कि-उक्त इलाज कथित झोलाछाप डॉक्टर द्वारा किया गया है।

जो कि चिकित्सा अधिनियम तथा नर्सिंग होम एक्ट एवं अपंजीकृत चिकित्सा व्यवसाय के तहत अपराध की श्रेणी में आता है जिसका पूरा प्रतिवेदन तैयार कर अग्रिम कार्यवाही एवं एफ आई आर के लिए थाना प्रभारी को चिकित्सा अधिकारियों की टीम ने प्रस्तुत कर दिया है ज्ञात हो कि पूरे घुमका क्षेत्र में घुमका से लेकर सोमनी, सुकुल,देहान् तथा बघेरा,मुदहीपार तक अवैध रूप से झोलाछाप डॉक्टरों का कारोबार बेधड़क चल रहा है।

Photo: MyNews36- झोलाछाप डॉक्टर के लिए बैठी जांच टीम

यहां तक कि घुमका में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के पीछे ही अवैध क्लिनिक संचालित हो रहा है,परंतु स्वास्थ्य विभाग के हीला हवाला एवं लापरवाही के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में मरीज झोलाछाप डॉक्टरों के हाथों लूट रहे हैं और मरीजों का स्वास्थ्य भी खराब हो रहा है।

MyNews36 के व्हाट्सप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए क्लिक करें

सूत्रों के अनुसार बीएमओ कार्यालय में पूरे क्षेत्र के झोलाछाप डॉक्टरों की सूची उपलब्ध है उसके बावजूद भी आखिर कार्यवाही क्यों नहीं हो पा रही है लोगों के समझ से परे है जबकि 3 दिन पूर्व ही कलेक्टर जयप्रकाश मोर्य ने स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों को स्पष्ट चेतावनी दिया है कि- जिले में झोलाछाप डॉक्टरों पर तुरंत कड़ी कार्रवाई करते हुए अवैध रूप से संचालित चिकित्सा व्यवसाय एवं क्लीनिक को तत्काल बंद किया जाए और अवैध डॉक्टरों पर कड़ी कार्यवाही की जाए।

मामला मेरी जानकारी में आया है स्वास्थ्य विभाग की टीम के जांच प्रतिवेदन प्राप्त होते ही घटित अपराध के हिसाब से संबंधित एक्ट के अनुसार तुरन्त एफआईआर की जाएगी-पुष्पेंद्र नायक,एस डी ओ पी-खैरागढ़

हमारी टीम ने पूरे मामले की बारीकी से जांच कर लिया है उक्त झोलाछाप डॉ की डिग्री फर्जी पायी गयी है और उसको इलाज की अनुमति नही है उक्त फर्जी डॉक्टर ने गलत इलाज किया है हमने तत्सम्बन्धी प्रतिवेदन थाने में दे दिया है अब पुलिस एफआईआर करेगी-डॉ.विजय खोब्रागड़े BMO,घुमका

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.