Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

MyNews36: दलालों के कब्ज़े में घुमका उप तहसील कार्यालय एवं क्षेत्र के हल्का पटवारी

MyNews36

राजनाँदगाँव/संवाददाता MyNews36 –उप तहसील कार्यालय घुमका वैसे तो शुरू से अव्यवस्थाओं और असुविधा के लिए जाना जाता है कहने को तो प्रशासनिक व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के लिए शासन की ओर से घुमका को उप तहसील घोषित कर कामकाज शुरू किया गया परंतु अभी तक निर्धारित और व्यवस्थित रूप से लोगों को प्रशासनिक सहूलियत नहीं मिल पा रही है।उप तहसील कार्यालय में आज तक सेटअप के हिसाब से कर्मचारियों की पदस्थापना नहीं हो पाई है और ना ही जिम्मेदार पीठासीन अधिकारी बतौर नायब तहसीलदार स्थाई रूप से समय दे पाते हैं ज्यादातर पक्षकारों को आए दिन भटकना पड़ता है।

इससे भी गंभीर शिकायत उप तहसील कार्यालय में दलालों का कब्जा होना बताया जा रहा है।नामांतरण फर्द बंटवारा जैसे-महत्वपूर्ण राजस्व संबंधी कार्यों के लिए एक चर्चित दलाल पक्षकारों से मोटी रकम वसूल कर कार्य पूरा करने की गारंटी व ठेका ले रहा है उक्त दलाल की दखल अंदाजी पटवारियों के कार्यालय से लेकर उप तहसील कार्यालय तक बताई जाती है।

ये भी पढ़े:- सरकार का बड़ा फैसला,अब घरों तक पहुंचाकर दिया जाएगा अंडा

यहां तक कि-क्षेत्र के कई हल्का के पटवारी उस दलाल के चंगुल में हैं और पटवारी कार्यालय में बैठकर बकायदा दस्तावेजी कार्यों को पूरा करता है जिसके चलते ज्यादातर पक्षकार एवं किसान पटवारी एवं उप तहसील कार्यालय तक ना पहुंचकर उक्त दलाल के चंगुल में फंस जाते हैं।जहां नामांतरण एवं बंटवारा जैसे प्रकरणों में मोटी रकम लेकर काम किए जाने का आरोप आए दिन लगता रहा है,

इसके अलावा विजय तला गांव में फूड पार्क की स्थापना पतंजलि कंपनी के लिए जमीन अधिग्रहण संबंधी काम में उक्त दलाल की पूरी भूमिका रही है,संबंधित हलके के पटवारी के बजाय उक्त दलाल अधिग्रहण संबंधी समस्त कार्यों में हस्तक्षेप की खबर चर्चा में रहा।इस मुआवजा प्रकरण में शासकीय पट्टे की आवंटित भूमि धारक किसानों को मुआवजा राशि कमीशन खोरी के चलते दिलवाकर शासन को लाखों रुपए का चूना लगाया है,जिसकी जांच जरूरी बताई जा रही है तथा कल डबरी से पटेवा तक सड़क मजबूती करण एवम चौड़ीकरण कार्य में कुछ किसानों के खेत एवं पटेवा बस्ती के कई मकानों को प्रभावित होना बताया जाता है।

परंतु दुर्भाग्य है कि-इस मुआवजा प्रकरण को तैयार करने के लिए राजस्व अमले के पास कर्मचारी नहीं होने का बहाना बनाकर उक्त से मुआवजा प्रकरण तैयार करवाया गया खबरों के अनुसार प्रभावित ग्रामीणों ने बीते वर्ष जुलाई माह में सांसद एवं तत्कालीन प्रभारी मंत्री राजेश मूणत का पटेवा में घेराव तक किया था जिसके चलते उस समय अनुविभागीय अधिकारी को सांसद ने कड़ी फटकार लगाया।आनन-फानन में राजस्व विभाग में उक्त दलाल के माध्यम से मुआवजा प्रकरण तैयार करवाया,जिसमें भी अनियमित रूप से कई अपात्रों को लाखों रुपए की क्षतिपूर्ति में शासन को भी चुना लगा है बताया जाता है कि-उक्त दलाल पूर्व में काफी विवादित एवं बर्खास्त सुदा पटवारी है जो जिले भर में कई हल्के में अपने नियम विरुद्ध कार्यों के कारण आए दिन विवादों में घिर कर कई बार निलंबित भी रहा है और इन्हीं हरकतों के कारण एक बार बर्खास्त भी किया जा चुका है परंतु राजस्व विभाग आखिर इस बर्खास्त सुदा पटवारी पर इतना मेहरबान क्यों है।

ये भी पढ़े:- 1 लाख के इनामी सहित 8 नक्सलियों को SP कार्यालय लेकर पहुंचे ग्रामीण

यही नहीं पटेवा में स्थापित होने वाले कॉपर प्रोजेक्ट के लिए अधिग्रहित किए जाने वाले प्रस्तावित जमीन के मुआवजा प्रकरण में भी इसकी भूमिका बताई जा रही है,जबकि पटेवा में राजस्व प्रकरण में काफी पेंच बताया जाता है।कारण है कि-पटेवा में सैकड़ों एकड़ कृषि भूमि कई किसानों को तीन दशक पूर्व शासन की ओर से पट्टे पर जमीन दी गई है।

उक्त शासकीय पट्टे की जमीन पर भी शासन के मुआवजा राशि के बंदरबांट करने की पूरी तैयारी इस दलाल द्वारा कर ली गई है।आए दिन पटवारी एवं उप तहसील कार्यालय में इस की आमद रफत देखी जा सकती है।कुल मिलाकर पटेवा एवं विजय तला के प्रकरणों की बारीकी से जांच करने पर तथा हर फर्द बंटवाराएवं नामांतरण के प्रकरणों की बारीकी से जांच करने पर उक्त दलाल के कारनामे सामने आ सकते हैं।

विश्वस्त सूत्रों के द्वारा यह भी बताया जा रहा है कि-फर्द बटवारा के तैयार प्रकरण में उक्त दलाल की लिखावट भी कार्यालय के अभिलेख मैं होने का आरोप है जिसकी हैंड राइटिंग एक्सपर्ट से जांच कराने पर सच्चाई सामने आ सकती है।सबसे गम्भीर शिकायत गोपालपुर उपरवाह आदि हल्का के एक पूर्व पटवारी द्वारा कई किसानों के ऋण पुस्तिका को लापरवाही पूर्वक गुम कर दिये जाने से भटक रहे किसानों को भी अधिकारियों से कोई राहत नही मिल पा रही है,जबकि गोपालपुर के पूर्व पटवारी के कई ग्रामीणों का पर्चा गुमाने की आये दिन शिकायत घुमका कार्यालय पहुच रही है।परेशान कृषक डुप्लीकेट ऋण पुस्तक के लिए आर्थिक मानसिक रूप से टूट चुके हैं।

“मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है यदि उक्त कथित पटवारी द्वारा ऐसा किया जा रहा है,तो यह पूरी तरह से गलत है कोई भी शिकायत प्राप्त होने पर मैं पूरे मामले की जांच करा कर उचित कार्यवाही करूँगा।”-आर पटेल,नायब तहसीलदार उप तहसील कार्यालय-घुमका(राजनाँदगाँव)

Add By MyNews36

हमारे इस mynews36 पोर्टल  में प्रतिदिन नए-नए सरकारी,प्राइवेट नौकरी व अन्य प्रकार की ख़बरों की जानकारी प्रदान की जाती है।अगर आप भी ख़बरों के प्रति इंट्रेस्टेड रखते है तो सबसे पहले अपडेट पाने के लिए अभी गूगल प्लेस्टोर पर जाकर mynews36 App डाउनलोड  कर सकते है।साथ ही हमारे WhatsApp Group  व फेसबुक पेज में भी जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते।अगर आपको यह खबर अच्छा लगा तो इस खबर को आगे शेयर करें ताकि कोई इस खबर से वंचित न हो,सभी लोगों को अच्छी जानकारी मिल सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.