Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

अपने बच्चे की मौत का सदमा नहीं सह सकी मां,खुदकुशी करने सेप्टिक टैंक में कूदी

shock of her child death,shock of her child death

shock of her child death

सरगुजा- जिले के अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज (Ambikapur Medical College Hospital) अस्पताल में रविवार को दो दर्दनाक घटना सामने आई।पहली घटना में एक ढाई साल के मासूम बच्चे की संदेहास्पद परिस्थिति में मौत हो गई।मौत के पीछे की वजह भूख और ठंड से होने की बात कही जा रही है।अपने बच्चे की मौत का सदमा मां झेल नहीं पाई और अस्पताल के ही सेप्टिक टैंक में कूद गई।घटना के बाद आस-पास के लोगों ने महिला को बड़े ही मशक्कत के बाद सेप्टिक टैंक से बाहर निकाला।बताया जा रहा है कि घटना के बाद से महिला की मानसिक स्थिती (Mentally Ill )खराब हो गई है और वो पूरी तरह सदमे में पहुंच गई है।

ढाई साल के बच्ची की मौत

मिली जानकारी के मुताबिक, अम्बिकापुर के प्रतिक्षा बस स्टैंड में रविवार सुबह अचानक एक औरत को रोता बिलखता देखकर लोगों ने इसकी सूचना बस स्टैंड पुलिस स्टाफ को दी।पूछताछ में पता चला कि उसके ढाई साल के बच्चे की सांस रुक गई है।लिहाजा पुलिस ने महिला और उसके बच्चे को मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचा दिया।अस्पताल के डॉक्टरों ने बच्चे को मृत को घोषित कर दिया।बताया जा रहा है कि बच्चे के शरीर में कम कपड़े थे।पुलिस कयास लगा रही है कि बच्चे की मौत ठंड और भूख की वजहस से हो सकती है।फिलहाल,मौत के पीछे की वजह फिलहाल सामने नहीं आई है।

मां ने की खुदकुशी की कोशिश

मेडिकल कॉलेज अस्पताल की पुलिस सहायता केंद्र प्रभारी निर्मला कश्यप के मुताबिक अपने ढाई साल के मासूम बच्चे की इस तरह मौत की खबर सुनकर महिला की मानसिक स्थिती खराब हो गई है और वो तरह-तरह की हरकत करने लगी है। इतना ही नहीं उसने बच्चे की मौत के सदमे में आकर आत्महत्या का भी प्रयास किया है।महिला अस्पताल के सेप्टिक टैंक में कूद गई है।हालांकि प्रत्यक्षदर्शियों ने किसी तरह उसको बाहर निकाल कर उसकी जान बचा ली। फिलहाल महिला की बेहतरी के लिए उसको अस्पताल में ही भर्ती करा दिया गया है।फिलहाल महिला का इलाज किया जा रहा है।

घटना के बाद से महिला सदमे में है इसलिए उसका सही नाम और पता भी नहीं चल सका है।हालांकि महिला ने बताया कि वो बलरामपुर जिले की रहने वाली है और वहां से झारखंड जाने के लिए निकली थी।लेकिन भटक गई और बस मार्ग से अम्बिकापुर आ गई थी। रात गुजारने के लिए वो अम्बिकापुर के बस स्टैंड में रूकी थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.