Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Millions of scams:रानी की ‘संपदा’ बनी भाजपा नेताओं की कमाई का जरिया

0

कांग्रेस की सत्ता के आने के बाद से खाली पड़ी है अध्यक्ष की कुर्सी

Millions of scams

राजनांदगांव-हजारों एकड़ जमीन..रजवाड़े की प्राचीन मंदिर..तालाब और अनेकों कई संपदाओं की देखरेख और उसके निगरानी के लिए सालों से संचालित होते आ रही स्व.रानी श्रीमती सूर्यमुखी देवी राजगामी संपदा न्यास को छत्तीसगढ़ में पंद्रह साल राज भोगने वाली भाजपा ने सत्यानाश कर दिया है।जो जो यहां कुर्सी में रहे,न्यास कमेटी में सदस्य रहे…उन्होने संपदा की आय से अपनी आय बटोरने में कोई कसर बाकि नहीं छोड़ी? यहां के रोकड़बही और अन्य दस्तावेज बताते है कि-यहां की गतिविधियां सालों से ‘अंधा बांटे रेवड़ी अपनों अपनों को देय की तर्ज चल रही है।माना जा रहा है कि कांग्रेस ने कहीं यहां की पूरी फाईल खुलवा दी तो न्यास की कुर्सी में बने रहे वाले कई नेता और अधिकारी सलाखों के पीछे होंगे?फिलहाल प्रदेश में भूपेश बघेल की सरकार आने के बाद से यहां राजगामी संपदा के अध्यक्ष और उनके सदस्यों की कुर्सी खाली पड़ी हुई है।करीब आठ महीने से राजगामी संपदा यहां के पदेन सचिव यानी (CEO) अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और व्यवस्थापक तहसीलदार के भरोसे चल रही है।राजगामी की कुर्सी के लिए कांग्रेस के कई नेताओं की गिद्घ नजर है।

राजगामी संपदा में मोटे तौर पर अध्यक्षों के वाहन किराए के नाम पर लाखों रूपए का घोटाला किया गया है।प्रतिमाह किराए के वाहन के नाम पर 45 से 50 हजार रूपए का भुगतान ट्रेव्हल्स एजेंसियों को किया गया है।राजगामी संपदा के अध्यक्ष रहे वर्तमान में जिला भाजपा के अध्यक्ष संतोष अग्रवाल के कार्यकाल में करीब साढे 26 लाख रूपए का भुगतान किराए के वाहन में किया गया है।इसी प्रकार यहां अध्यक्ष रहे रमेश पटेल के कार्यकाल में 15 लाख रूपए से अधिक का भुगतान किराए की गाडियों में किया गया है।

MyNews36 से Whatsapp Group में डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें

सवाल यह उठता है कि-राजनांदगांव जिला और साजा-बेमेतरा तहसील क्षेत्र की इस राजगामी संपदा न्यास को आखिर इतने बड़े पैमाने पर दौरा के लिए वाहनों की जरूरत क्यों पड गई? यहां किराए के वाहन के नाम पर सीधे लाखों रूपए का वारा-न्यारा किया जाना परिलक्षित होता है।माना जा रहा है सहीं मायने में किराए के वाहन लेने के नियमों और भुगतान तथा वाहनों में दौरे की जांच हुई तो लाखों रूपए की आर्थिक अनियमितता प्रमाणित पाई जा सकती है।

भाजपा सरकार की वाहवाही में लाखों के विज्ञापन,फ्लेक्स का भुगतान?

भाजपा की 15 साल की सत्ता के दौरान यहां सरकार के विज्ञापन और अध्यक्षों की बधाई संदेशों के नाम पर लाखों रूपए का भुगतान किया गया है।इसके अलावा होर्डिग्स और सरकार के फ्लेक्स के भुगतान भी राजगामी संपदा से किए गए है।यहां के रोकडबही कई फर्जी बिलों को प्रमाणित कर रहे हैं।यहां अध्यक्षों ने स्वयं अपने नाम से राशि का आहरण कर विज्ञापन,फ्लेक्स के बिलों का भुगतान किया है।दिवाली,पंद्रह अगस्त,26 जनवरी के विज्ञापनों का मापदंडों से अधिक भुगतान दर्शाया गया है।कुल मिलाकर राजगामी संपदा में जिनकी-जिनकी सत्ता रही उन्होने संपदा न्यास को आम की तरह चूसकर गठुली में तब्दील करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।यहां पदस्थ विभागीय अमले की भी यहां के भ्रष्टाचार में अहंम भूमिका मानी जा रही है। संपदा में काफी लंबे समय से चल रहे काले कारनामों की परतों अब खुलने लगी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.