Image result for medical council of india

रायपुर।प्रदेश में मेडिकल के पढ़ाई करने वाला लईका मन बर बड़े खबर हे।अब छत्तीसगढ़ी बोली खाली प्रदेश के मेडिकल के छात्र मन ला बस नहीं दूसर राज्य ले आके पढाई करने वाला मन ला घलो एला सिखाए जाही।उहे हिंदी भाषी राज्य मन ले आने वाला हिंदी माध्यम के कई छात्र अंग्रेजी मा कमज़ोर होथे तेकरे सेती ओमन ला अंग्रेजी सिखाए जाही।दरअसल मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया (MCI) हा प्रदेश के सबो मेडिकल कॉलेज मन ला स्थानीय बोली अऊ भाखा के जानकारी छात्र और डॉक्टर मन ला दे के निर्देस दे हे। छत्तीसगढ़ मा मेडिकल कॉलेज के 1100 सीट में से 15 प्रतिसत आल इंडिया कोटा अऊ 3 प्रतिसत सेंट्रल पूल कोटा के होथे।देखे गए हे कि-गैर हिंदी भाषी राज्य मन ले आने वाला छात्र मन ला छत्तीसगढ़ी के जानकारी नई होए जेकर सेती डॉक्टर मन ला ओकर मन के बात ला समझे मा अउ अपन बात ला समझाए मा परेशानी होथे।छत्तीसगढ़ी सीखे ले मरीज मन के बढ़िया तरीका ले इलाज़ हो सकही।

चलत हावे डॉक्टर मन के प्रशिक्षण

एमसीआई हा स्थानीय भाखा अऊ बोली के जानकारी एमबीबीएस छात्र अऊ डॉक्टर मन ला दे के निर्देस दे हे।ओकरे सेती डॉक्टर मन के प्रशिक्षण चालु होंगे हे।छात्र मन ला अगस्त ले छत्तीसगढ़ी के जानकारी दे जाही।जेन अंग्रेजी मा कमजोर हे,ओ मन ला अंग्रेजी सिखाए जाही।

किसी बीमारी को क्या कहेंगे

सिर दर्द : मुड़ या मुड़ी पिराना
नाक से खून निकलना: नाक फूटना
गले में दर्द : घेंच पिराना
गैंगरीन : पांव व हाथ सड़ना
दिल में दर्द : छाती पिराना
कमर दर्द : कनिहा पिराना
नाभि के नीचे दर्द : कोथा पिराना
घुटनों में दर्द: माड़ी पिराना
पैर में चोट : गोड़ में घाव
उंगलियों में दर्द : अंगरी पिराना

Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

INC: इन 10 बड़ी वजहों के कारण कांग्रेस को करना पड़ा हार का सामना

रायपुर- देश में नई लोकसभा के लिए मतों की गिनती जारी है।अभी तक जो रुझान सामने आए हैं,वे इशा…