Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Medical College CG:अब मेडिकल की पढाई करना हुआ और कठिन,बढ़ी फीस

Medical College CG

रायपुर- छत्तीसगढ़ के निजी मेडिकल कॉलेजों में दाखिला लेना थोड़ा महंगा हो गया है। छत्तीसगढ़ फीस विनियामक आयोग ने प्रदेश के तीन निजी मेडिकल कॉलेजों और चार निजी डेंटल कॉलेजों की फीस आगामी तीन सत्रों के लिए तय कर दी है। मेडिकल कॉलेजों की फीस में एक लाख 10 हजार से लेकर 1 लाख 29 हजार रुपये तक का इजाफा किया गया है। ‘नईदुनिया’ के पास इससे संबंधित आदेश है, जिसमें उल्लेख है कि यह फीस मध्य प्रदेश से कुछ अधिक और ओडिशा के कालेजों के समकक्ष हो गई है।

फीस वृद्धि प्रत्येक तीन वर्ष में होती है। इससे पहले साल 2016 में हुई थी, तब प्रदेश में सिर्फ एक निजी मेडिकल और पांच डेंटल कॉलेज थे। फीस बढ़ाने के लिए कॉलेजों ने अपने आय-व्यय की जानकारी आयोग को भेजी थी। इसके बाद कॉलेजों में अधोसंरचना, प्रयोगशाला, स्टाफ (टीचिंग/नॉन-टीचिंग), हॉस्टल सुविधा, खेल मैदान आदि को लेकर निरीक्षण किया गया। फिर प्रस्तावित फीस पर सुनवाई का अवसर दिया गया। कॉलेज प्रबंधकों ने कहा कि जो फीस अभी है, वह पर्याप्त नहीं है। इससे कॉलेज चलाने में मुश्किल हो रहा है। कॉलेज प्रबंधनों ने फीस आठ से 12 लाख रुपये तक बढ़ाने का तर्क दिया था।

सभी सरकारी कॉलेजों की फीस 50 हजार रुपये

प्रदेश के सरकारी मेडिकल कॉलेजों की फीस में इजाफा नहीं हुआ है, यह 50 हजार रुपये ही है। 40 हजार रुपये शिक्षण शुल्क, चार हजार रुपये कॉशन मनी, 3500 रुपये हॉस्टल शुल्क, 6000 रुपये अन्य शुल्क। हालांकि शुल्क अलग-अलग हैं, मगर योग 50 हजार से अधिक नहीं है।

एमबीबीएस पाठ्यक्रम के लिए निर्धारित फीस-

कॉलेज- 2018-19 तक- 2019-20 (तीन सालों के लिए)

बीडीएस पाठ्यक्रम के लिए निर्धारित फीस

कॉलेज- फीस

फीस विनियामक आयोग से फीस से संबंधित पत्र प्राप्त हुआ है। फीस में वृद्धि की गई है, जो नियमानुसार प्रति तीन वर्ष में होती है। सूचना वेबसाइट में अपलोड कर दी गई है, अभ्यर्थी इससे जानकारी ले सकते हैं।-डॉ. जीतेंद्र तिवारी, प्रवक्ता एवं सदस्य काउंसिलिंग कमेटी, चिकित्सा शिक्षा संचालनालय

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.